ओम प्रकाश गुप्ता, बरलंगा (रामगढ़): मुख्यमंत्री की चचेरी बहन आशा सोरेन की शादी समारोह(लगन) में रविवार को शामिल होने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पिता व राज्यसभा सांसद पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन, मां रुपी सोरेन व पत्नी कल्पना सोरेन पहुंची। यहां पहुंचकर वे आशा सोरेन के लगन कार्यक्रम में शामिल हुए। गांव वाले भी भारी संख्या में शामिल होकर लगन कार्यक्रम की रस्म अदायगी की। लगन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री की पत्नी कल्पना सोरेन ने बखूबी सभी नियमों का पालन करते हुए घर व गांव वालों के साथ कार्यक्रम को सफल बनाया। दिशोम गुरु शिबू सोरेन के गांव पहुंचते ही गांव के बच्चों ने पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। शिबू सोरेन ने भी बच्चों से बात कर हालचाल जाना। घर पहुंचते ही खाना बनाने वाले रसोइया से बात कर खाने की व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया एवं आने जाने वाले मेहमानों को भोजन कराने का भी निर्देश दिया। मौके पर लगन कार्यक्रम में झामुमो जिलाध्यक्ष विनोद किस्कु, केंद्रीय सदस्य शिव कुमार करमाली, जिला उपाध्यक्ष चित्रगुप्त महतो, फखरुद्दीन अंसारी, करण नायक, जगरनाथ महतो, कपिल महतो, आलम अंसारी आदि उपस्थित थे। टेंट, लाइट सफाई व पेयजल पर विशेष ध्यान

शादी समारोह में हजारों लोगों की आने की सूचना पर टेंट, लाइट व सफाई पर विशेष फोकस किया जा रहा है। घर पर आधा दर्जन से ज्यादा टेंट का निर्माण किया जा रहा है और प्रत्येक टेंट के सामने पेयजल की व्यवस्था की गई है। घर के सामने स्थित तालाब को विद्युत सज्जा से दुल्हन की तरह सजाया गया है। घर के चारों और लाइट की व्यवस्था की गई है। तालाब सुंदरीकरण का कार्य जोर शोर से चल रहा है। इस कार्य में एक दर्जन से ज्यादा कारीगर लगे हुए हैं और दिन रात काम कर रहे हैं।

---------------

बीस बस के काफिले से नेमरा से बोकारो जाएगी तिलक

आज मुख्यमंत्री के पैतृक गांव नेमरा से बोकारो के बालीडीह थाना अन्तर्गत ग्राम झोपड़ों जाएगी तिलक। तिलक कार्यक्रम में थाना क्षेत्र नेमरा, नरसिंहडीह, औराडीह के अलावा बंगाल, उडीसा से आए हुए मेहमान भी बीस बस के काफिले के अलावा बोलेरो, स्कार्पियो व अन्य छोटे वाहनों से भी तिलक कार्यक्रम मे शामिल होने बोकारो जाएंगे। मुख्यमंत्री के पैतृक गांव में दूरदराज से आए हुए मेहमान अभी नेमरा में ही रुके हुए हैं। शादी की तैयारियों मे लगे नेमरा के किसान

मुख्यमंत्री के घर में शादी समारोह के कारण नेमरा के किसान धान की कटाई छोड़ शादी की तैयारियों में लग गए हैं। नेमरा के किसान रीतूलाल सोरेन, गंगाधर सोरेन, सुखदेव किस्कू, कांग्रेस टूडू, छोटू बेसरा आदि किसानों ने बताया कि शादी नजदीक आने के कारण हम गांव वाले शादी की तैयारियों में लगे हुए हैं। शादी के बाद धान कटाई करेंगे।

------------------

नेमरा के हर घर से दूल्हा को मिलेगा गिफ्ट

ग्रामीणों ने बताया कि हम लोग जब तिलक चढ़ाने जाएंगे तो दूल्हा को नेमरा के हर घर से कुछ न कुछ उपहार दिया जाएगा। यही संथाली समाज की परंपरा है।

Edited By: Jagran