दुलमी(रामगढ़): रामनवमी जुलूस का मुहल्ले से जाने के दौरान एक समुदाय द्वारा विरोध किए जाने के बाद दोनों समुदाय के लोगों के बीच हल्की झड़प हुई। मौके पर दुलमी सीओ व पुलिस पहुंची और दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास करने लगी तभी एम समुदाय के घर के छत से पत्थरबाजी शुरू हो गई। इससे जुलूस में भगदड़ जैसा माहौल कायम हो गया। इसके बाद जुलूस में शामिल लोग भी पथराव करने लगे। पुलिस-प्रशासन के सामने ही करीब डेढ़ घंटे तक पथराव का दौर चलता रहा। इसी बीच जुलूस में शामिल सिकनी निवासी बलदेव ठाकुर के आठ वर्षीय पुत्र सुजीत कुमार के गायब हो जाने से तनाव बढ़ गया। पुलिस ने मुहल्ले में छापेमारी कर लगभग दो घंटे बाद शाम करीब सात बजे बच्चे को एक घर से ढूंढ निकाला और उसके परिजनों को सौंप दिया। विवाद को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि उनलोगों को थोड़ा सा भी अंदेशा नहीं था कि गांव में इस तरह का मामला होगा। हमेशा सौहार्द के वातावरण में रामनवमी जुलूस हर साल इस रास्ते से होकर गुजरता है। एक सुनियोजित साजिश के तहत घटना को अंजाम दिया गया। सिकनी गांव के जिस नीचे टोला स्थित भठिया मुहल्ले में पत्थरबाजी की घटना हुई वहां दोनों समुदाय के लोगों का घर है। सिकनी से भठिया मुहल्ले के पास मोड़ से ही चितरपुर जाने का रास्ता है। परंपरागत रूप से इसी मोड़ के पास से रामनवमी जुलूस घुमकर वापस गांव के अखाड़े में पहुंचती है। इसी दौरान एक समुदाय के लोगों ने अचानक विवाद कायम कर दिया। इस घटना से पूरे गांव में आक्रोश का माहौल कायम है।

---

झांकी कलाकर सहित दो दर्जन से अधिक ग्रामीण हुए घायल

डेढ़ घंटे तक चली पत्थरबाजी में झांकी के तीन कलाकार सहित दो दर्जन से अधिक ग्रामीण घायल हुए हैं। जिस झांकी वाहन में राम-लक्ष्मण व सीता बने कलाकार सवार थे। वे तीनों को भी पत्थरबाजी में सिर पर चोट लगी है। पुलिस ने पत्थरबाजी में घायल दुलमी सीओ, रजरप्पा थाना के एएसआइ सहित सात लोगों का प्राथमिक उपचार छत्तरमांडू स्थित सदर अस्पताल में कराया। इधर घटना की सूचना पाकर चितरपुर के सीओ कुंवर सिंह पाहन सहित कई अधिकारी सदर अस्पताल पहुंचकर घटना घायल दुलमी सीओ, एएसआई व ग्रामीणों की जानकारी ली। सीओ, एएसआई सहित सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

--

पत्थरबाजी करने के मामले में एक गिरफ्तार, छापेमारी जारी

पुलिस ने जुलूस में पत्थरबाजी करने के आरोप में नरूल्लाह नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पथराव करने में शामिल लोगों की पहचान कर आरोपितों की गिरफ्तार के लिए छापेमारी कर रही है।

---

पुलिस ने जुलूस को वापस भेजा, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ सिकनी

पुलिस-प्रशासन ने रात के करीब आठ बजे जुलूस को घटनास्थल से वापस गांव के लिए भेजा। गांव को पुलिस छावनी के रूप मे तब्दील कर दिया गया है। गांव में शांति व्यवस्था बहाल करने के लिए एसडीओ अनंत कुमार, एसडीपीओ आरपी किशोर, रजरप्पा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कमलेश पासवान सहित पुलिस-प्रशासन के कई अधिकारी रात तक गांव में कैंप किए हुए हैं।

--

गांव में शांति व्यवस्था बहाल, अब कोई तनाव नहीं : एसडीओ

एसडीओ अनंत कुमार ने कहा कि गांव में शांति व्यवस्था बहाल कर दी गई है। अब गांव में किसी प्रकार की स्थिति नहीं है। एसडीओ ने कहा कि सांप्रदायिक सदभाव बिगाड़ने की कोशिश करने वालों की पहचान कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पत्थरबाजी करने वाले असामाजिक तत्वों की पहचान की जा रही है।

Edited By: Jagran