दिलीप कुमार सिंह, रामगढ़ महाविद्यालय को मॉडल डिग्री कॉलेज का दर्जा तो मिल गया है, पर छात्रों को इसका लाभ अभी तक नहीं मिल पा रहा है। यह कॉलेज पूर्व में डिग्री कॉलेज हुआ करता था। मॉडल डिग्री कॉलेज का दर्जा मिलने के बाद अब कॉलेज अपडेट श्रेणी में आ गया है। अपग्रेड श्रेणी में आने के बाद इसमें लैंग्वेज लैब, वर्चुअल क्लासेज, टॉप लाइब्रेरी सहित कई अत्याधुनिक सुविधाएं छात्र- छात्राओं के लिए बहाल होनी थी । मॉडल डिग्री कॉलेज बनने के बाद रामगढ़ महाविद्यालय को अपग्रेड की श्रेणी में ला दिया गया है। दो वर्ष पूर्व ही इसके लिए कॉलेज को चार करोड़ रुपये भी मिले हैं। बताते चलें कि केंद्र ने राष्ट्रीय उच्च शिक्षा अभियान रूसा के तहत इसकी मंजूरी दी थी। कॉलेज को मॉडल डिग्री कॉलेज का दर्जा मिलने के बाद से छात्र-छात्राओं में काफी हर्ष का माहौल व्याप्त हो गया था। वहीं जिला में एकमात्र सरकारी कॉलेज होने के नाते इसका चयन होना जिलावासियों के लिए भी गर्व की बात रही थी। कॉलेज के आधारभूत संरचना के लिए रूसा की ओर से विकास के लिए अनुदान कालेज को लगातार मिल रहा है। साथ ही नैक की ओर से एक्रिडीएशन व बी ग्रेड भी किया गया था। कालेज को लगातार बेहतर करने के लिए बी ग्रेड मिलता रहा है। कालेज के अपग्रेड होने को लेकर जिला के प्रबुद्ध लोगों ने इसे एक बेहतर कदम बताते हुए कहा था कि यहां के छात्रों को अब बाहर के कालेजों का मुंह नहीं देखना पड़ेगा । जिला में ही अब छात्र- छात्राओं को पठन-पाठन के लिए बेहतर सुविधा व माहौल मिल पाएगी। यह जिलावासियों के लिए गौरवान्वित होने वाला क्षण है। बता दें कि रामगढ़ महाविद्यालय में पूरे जिले भर से छात्र-छात्राएं हर तबके की अध्ययन करने पहुंचते हैं। यह कॉलेज पूरे जिला के लिए शान व गौरव का प्रतीक भी है।

-----------------------

फोटो : 12 रामगढ़ कॉलेज में बेहतर शिक्षा का माहौल बनाने के लिए लगातार अभाविप की ओर से आंदोलन किया जाता रहा है । समय-समय पर कॉलेज की समस्या पर कड़ा रु़ख भी अपनाया गया है । कालेज को मॉडल डिग्री का दर्जा मिलने के बाद से छात्रों में काफी उत्साह था, पर इसका लाभ छात्रों को नहीं मिल पा रहा है। यह बहुत ही खेद का विषय है।

- गौतम कुमार महतो

जिला संयोजक, अभाविप।

----------------

फोटो : 11

सरकार की ओर से रूसा के तहत फंड मिलना है। वह फंड नहीं मिल पाया है। इस कारण कार्य में थोड़ी विलंब हो रही है । कोरोना संक्रमण के चलते भी परेशानी बढ़ी है। वैसे सारी कागजी कारवाई व तैयारी कर ली गई है। फंड आते ही काम शुरू हो जाएगा।

- डॉ. मिथिलेश कुमार सिंह

प्राचार्य, रामगढ़ महाविद्यालय, रामगढ़।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस