संवाद सूत्र, मांडू: राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय गोविदपुर में गुरुवार को दस दिवसीय संस्कृत संभाषण प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। इसका विधिवत उद्घाटन मुख्य अतिथि  बीडीओ मनोज कुमार गुप्ता व थाना प्रभारी रामजीवन राम, प्रशिक्षक डॉ. सुनील कुमार कश्यप, विद्यालय की प्रधानाध्यापिका एलिशबा टोपनो ने संयुक्त रूप से मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर तथा माल्यार्पण कर प्रशिक्षण का शुभारंभ किया। प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए बीडीओ ने कहा कि संस्कृत भारतीय संस्कृति की आत्मा है। इसलिए हम लोगों को संस्कृत पर विशेष ध्यान देना चाहिए। अपने बच्चों को छात्र-छात्राओं को संस्कृत का ज्ञान देना चाहिए। संस्कृत को जाने बिना भारतीय संस्कृति को नहीं जाना जा सकता है।  थाना प्रभारी ने कहा कि हमारे सभी संस्कृत साहिब भारतीय साहिब जान विज्ञान की बातें संस्कृत में निहित है । संस्कृत के क्षेत्र में काफी काम हो रहा है तभी तो कंप्यूटर के लिए संस्कृत वरदान साबित हो रहा है।  डॉ. कश्यप ने कहा कि यह प्रशिक्षण निरंतर 10 दिवसीय होगा इस प्रशिक्षण का अवलोकन विनोद विश्वविद्यालय और हजारीबाग विश्वविद्यालय के विद्वान समय-समय पर आएंगे और इस प्रशिक्षण को और आकर्षक बनाएंगे । इस दस दिवसीय संस्कृत संभाषण प्रशिक्षण में विद्यालय के बच्चे काफी खुश होकर प्रशिक्षण ग्रहण कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप