संवाद सूत्र, भुरकुंडा (रामगढ़)। आउटसोर्सिंग कोल कंपनी बीजीआर के ट्रांसपोर्टिंग कार्य से जुड़े आजसू नेता सतीश सिन्हा (52) को बुधवार रात आठ बजे अपराधियों ने गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। अपराधियों ने उन्हें भुरकुंडा ओपी क्षेत्र के सयाल स्थित आजसू के अखिल झारखंड श्रमिक संघ कार्यालय में ही गोली मार दी। दो माह पूर्व बीजीआर कंपनी के मैनेजर मल्लिकार्जुन को भी रात आठ बजे उनके घर के बाहर अपराधियों ने गोली मार दी थी।

घटना के समय आजसू नेता सह अखिल झारखंड श्रमिक संघ के केंद्रीय महासचिव सतीश अपने कार्यालय में बैठे हुए थे। उनके साथ उनका चालक व एक सीसीएलकर्मी थे। इसी बीच, दो अपराधी गेट से अंदर घुसे और उन पर चार गोलियां दाग दी। अपराधियों ने नाइन एम पिस्टल से गोली मारी। गोली लगते ही सतीश सिन्हा खून से लथपथ हो वहीं गिर गए। सतीश सिन्हा के सीना, पेट व पैर में गोली लगी है।

जानकारी के अनुसार, अपराधियों की संख्या चार थी। सभी अपराधी दो बाइक से आए थे। गोली मारने के बाद अपराधी सयाल कॉलोनी की ओर भाग गए। गोली चलने के बाद श्रमिक संघ कार्यालय में पास अफरा-तफरी मच गई। तुरंत सतीश सिन्हा को अस्पताल पहुंचाया गया जहां गंभीर हालत में उन्हें रांची स्थित मेदांता अस्पताल रेफर कर दिया गया। घटना की सूचना मिलते ही भुरकुंडा पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस श्रमिक संघ कार्यालय का गहन जांच कर रही है, उसे वहां से दो खोखा भी मिला है। घटनास्थल पर एसपी निधि द्विवेदी सहित कई पुलिस अधिकारी पहुंचे गए हैं। घटना के बाद अपराधियों की धरपकड़ के लिए पुलिस पूरे इलाके में नाकाबंदी कर छापेमारी कर रही है।

दो महीने मे बीजीआर कंपनी से जुड़े दो लोगों को मारी गई गोली
भुरकुंडा थाना अंतर्गत सयाल में आजसू नेता सतीश सिन्हा को अपराधियों द्वारा गोली मारने की घटना ने गत दो माह पहले हुई मैनेजर की हत्या घटना को ताजा कर दिया। सीसीएल बरका सयाल प्रक्षेत्र अंतर्गत उरीमारी आउटसोर्सिंग कोयला परियोजना बीजीआर कंपनी से जुड़े दो लोगों को मारने की यह दूसरी घटना है। सतीश सिन्हा बीजीआर आउटसोर्सिंग कोयला परियोजना कंपनी में अभी कोयला ट्रासपोर्टिग के काम से जुड़े हुए हैं।

इससे पहले जुलाई में बीजीआर कंपनी के मैनेजर मल्लिकार्जुन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सेन्ट्रल सौन्दा पीओ बंग्ला पास जब मल्लिकार्जुन अपने घर के अंदर जा रहे थे, उसी समय उन्हे गोली मारी गई थी। मैनेजर की हत्या के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की थी। उस घटना मामले पर सतीश सिन्हा से भी पुलिस ने पूछताछ की थी। इधर, दूसरी घटना में आजसू नेता सतीश सिन्हा को गोली मारने की घटना के बड़ी संख्या में आजसू नेता कार्यकर्त्ता भी सयाल घटना स्थल पर पहुंचे।

सीसीएलकर्मी पच्चू राणा से हो रही पूछताछ सतीश सिन्हा को गोली मारने की घटना समय एक सीसीएल कर्मी पच्चू राणा भी कार्यालय में मौजूद थे। इसी को लेकर भुरकुंडा पुलिस सहित पतरातू एसडीपीओ प्रकाश चंद्र महतो भी पच्चू राणा से पूछताछ कर रहे है। पुलिस पच्चू से पूरे घटना की जानकारी भी ले रही है। पुलिस सतीश सिन्हा के ड्राइवर से भी पूछताछ कर रही है।

दो अपराधी घुसे थे कार्यालय में आजसू नेता सतीश सिन्हा को गोली मारने के लिए दो अपराधी अखिल झारखंड श्रमिक संघ कार्यालय में घुसे थे। जबकि दो अपराधी कार्यालय के बाहर मोटरसाइकिल के साथ थे। अपराधियों ने सतीश सिन्हा को चार गोली मारी है। दोनों घटनाओं को रात्रि में दिया गया अंजाम सीसीएल बरका सयाल प्रक्षेत्र अंतर्गत उरीमारी आउटसोर्सिंग कोयला परियोजना बीजीआर कंपनी से जुड़े दो लोगों को गोली मारने की घटना को रात्रि में ही अंजाम दिया गया। वो भी रात करीब आठ बजे। मैनेजर मल्लिकार्जुन की गोली मारकर हत्या भी रात करीब आठ बजे की गई थी, जबकि आजसू नेता सतीश सिन्हा को को भी रात्रि करीब आठ बजे गोली मारी गई।