संवाद सूत्र, मेदिनीनगर : लॉकडाउन के कारण मैदानी शाखा बंद होने के बाद से चरैवेति चरैवेति के मंत्र के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की कुटुंब शाखा अनवरत जारी है। इस संबंध में आरएसएस के जिला संघ चालक सुनील कुमार मिश्रा ने बताया कि कुटुंब शाखा आयोजन का मूल उद्देश्य विपरीत परिस्थितियों में भी देशभक्ति की भावना को बनाए रखना है। कहा कि समय और परिस्थितियों के अनुरूप संघ की कुछ व्यवस्था भी बदली है। 95 वर्षों से लगातार राष्ट्रीय कार्य करने के कारण यह संस्था विश्व का सबसे बड़ा सामाजिक संगठन बना हुआ है। भारत माता को परम वैभव तक पहुंचाने का संकल्प का जिक्र सर संघचालक मोहन भागवत कई बार कर चुके हैं। कुटुंब शाखा एक तरह से स्वयंसेवक का विस्तार भी है। इससे बच्चों और महिलाओं को भी संघ के बारे में समझने का सुनहरा मौका के तौर पर देखा जा रहा है। सर कार्यवाह भैयाजी जोशी ने कहा है कि सामूहिक शक्ति जागरण के लिए अखिल भारतीय स्तर पर भारत माता की वंदना आवश्यक है। एक समय एक साथ जब लाखों स्वयंसेवक संघ की प्रार्थना का उच्चारण करेंगे तो ब्रह्मांड में नयी सात्विक शक्ति का संचार होगा। कहा कि रविवार को शाम 5.30 बजे लोग अपने घर पर ही सपरिवार प्रार्थना में शामिल हुए। इसमें शारीरिक दूरी का भी ख्याल रखा गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस