पलामू में दो फोटो के साथ

लीड- गढ़वा में एक फोटो के साथ

लीड विश्व विद्यालय परिसर में धरना-प्रदर्शन पर रोक को लेकर किया हंगामा संवाद सहयोगी, मेदिनीनगर (पलामू ) : स्थानीय योध सिंह नामधारी महिला कालेज में नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय की ओर से आहूत सिडिकेट की 67वीं बैठक छात्र संगठनों के विरोध के बाद स्थगित हो गई। सिडिकेट की बैठक गुरूवार को दोपहर तीन बजे से निर्धारित थी। बावजूद बैठक की सूचना महज सिडिकेट सदस्यों तक ही सीमित थी। गोपनीय तरीके से बैठक कराने की सूचना किसी तरह छात्र संगठनों मिली। तत्काल अभाविप और एआईएसएफ के कार्यकर्ता वहां पहुंचकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। सिडिकेट की 66वीं बैठक में कालेज और एनपीयू परिसर में धरना प्रदर्शन पर रोक लगाने से संबंधित निर्णय लिया गया था। इस निर्णय के बाद से पलामू लगातार छात्र संगठन आंदोलनरत हैं। इस बीच महिला कालेज में पुलिस बलों की तैनाती भी की गई थी। दंडाधिकारी के रूप में चैनपुर के बीडीओ को प्रतिनियुक्त किया गया था। बैठक में शामिल होने के लिए एनपीयू के कुलसचिव डा राकेश कुमार, उप कुलसचिव व डीएसडब्लयू आदि मौजूद हो गए थे। सिडिकेट सदस्य सीएस दुबे के पहुंचते ही छात्र उम्र हो गए। कुलसचिव ने बताया कि बैठक स्थगित कर दी गई है।

बाक्स..छात्रों की समस्या को लेकर गंभीर नहीं है एनपीयू प्रबंधन : अभाविप फोटो : 02 डालपी 10

कैप्शन : मेदिनीनगर स्थित योध सिंह नामधारी महिला कालेज के बाहर सिडिकेट की बैठक का विरोध करते बाएं से दूसरे अभाविप के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य विनीत पांडेय। मेदिनीनगर : स्थानीय वाइएसएनएम कालेज में आहूत सिडिकेट की बैठक का अभाविप ने विरोध किया। मुख्य द्वार पर धरना देकर एनपीयू के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसका नेतृत्व अभाविप के प्रदेश मंत्री राजीव देव पांडेय कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सिडिकेट की बैठक में छात्रहित में कोई निर्णय नहीं होता है। छात्रों की समस्या के निदान करने के प्रति एनपीयू प्रशासन गंभीर नहीं है। सत्र 2017-20 ओल्ड कोर्स के छात्रों का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। लेकिन विश्वविद्यालय की ओर से अंक पत्र नहीं दिया गया है जिस कारण विद्यार्थियों को पार्ट थर्ड में महाविद्यालय में नामांकन लेने में असुविधा हो रही है। विश्वविद्यालय में पूरी तरह अव्यवस्था व्याप्त हैं। छात्र हित में कार्यवाही नहीं हो रही है। राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य विनीत पांडेय ने कहा कि केवल सिडिकेट की बैठक में छात्र हित कोई निर्णय नहीं लिया जाता है। विश्वविद्यालय में व्याप्त शैक्षणिक अराजकता, महाविद्यालयों में शिक्षकों की भारी कमी, परीक्षा में त्रुटियों का अंबार है। इस ओर सिडिकेट सदस्यों की कोई ध्यान नहीं है। मौके पर रोहित देव, अभय वर्मा,नगर सह मंत्री सुमित पाठक,रामा शंकर पासवान, अभिषेक रवि ,प्रभात दुबे, नीतीश दुबे आदि मौजूद थे।

छात्र हित में फैसला को वापस ले एनपीयू : एआइएसएफ फोटो : 02 डालपी 09

कैप्शन : मेदिनीनगर स्थित योध सिंह नामधारी कालेज में सिडिकेट सदस्यों का विरोध करते दायें एआईएसएफ के जिलाध्यक्ष सुजीत पांडेय। मेदिनीनगर : आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) की ओर से महिला कालेज में जमकर प्रदर्शन किया गया। सिडिकेट सदस्य सीएस दुबे को अंदर तक नहीं जाने दिया गया। इसका नेतृत्व जिला अध्यक्ष सुजीत पांडेय कर रहे थे। कहा कि छात्रहित के विरोध में लिए गए निर्णय को वापस लेना होगा। वापस नहीं लेने तक सिडिकेट की बैठक नहीं होने दी जाएगी। मौके पे राहुल कुमार, प्रियांशु आनंद, नीरज मेहता, हर्ष दुबे, पवन कुमार, राणा सिंह, प्रियांशु आनंद, सुधांशु तिवारी, विकास सिंह व राकेश सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran