मेदिनीनगर, जासं।  झारखंड में पलामू जिले के डीसी ने ड्यूटी में कोताही करने वालों को ऐसी सजा दी कि लोग-बाग गली-मोहल्‍लों में चर्चा करने लगे। उपायुक्त डॉ शांतनु कुमार अग्रहरि द्वारा दी गई सजा के अनुपालन में पलामू जिले में चार इंजीनियरों ने एक साथ 800 पौधे लगाए गए। यह कार्य लोगों में पर्यावरण संरक्षण को लेकर जागरुकता भरा उदाहरण बना हुआ है। इस पहल को जल संरक्षण की ओर बड़ा कदम माना जा रहा है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में सेक्टर मजिस्ट्रेट के रूप में प्रतिनियुक्ति के दौरान चार अभियंताओं स्पष्टीकरण का संतोषजनक जवाब नहीं दिया था। इस पर चारों अभियंताओं को दंड के रूप में 100-100 पौधे लगाने का निर्देश उपायुक्त सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि ने दिया था। 

इसी निर्देश पर चारों कनीय अभियंताओं ने निर्धारित स्थलों पर फलदार और छायादार पौधे लगाए। जिन कनीय अभियंताओं ने पौधा लगाने का कार्य किया, उनमें रूपांकन प्रमंडल संख्या-2 के विशाल कुमार तथा अनिल कुमार पंडित, रूपांकन प्रमंडल संख्या-1 के विरेंद्र कुमार महतो तथा अग्रिम योजना प्रमंडल के कामेश्वर बाखला शामिल हैं। इन कनीय अभियंताओं ने आयुक्त कार्यालय परिसर, परिसदन, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, केंद्रीय पुस्तकाल परिसर तथा प्रखंड सह अंचल कार्यालय, मेदिनीनगर में आम, अमरूद, सरीफा, अनार, आंवला आदि फलदार तथा नीम सहित अन्य छायादार पौधे लगाए गए। साथ ही एक माह पूर्ण होने पर पौधों की जीवित रहने का साक्ष्य फोटो उपायुक्त को सौंपा गया।

 

बीईईओ ने भी लगाए पौधे

लोकसभा चुनाव के दौरान ही चार बीईईओ से  भी उपायुक्त ने  स्पष्टीकरण मांगा था। स्पष्टीकरण का संतोषप्रद जवाब नहीं आने के कारण इनको अपने-अपने  क्षेत्र के विद्यालयों में 100 -100 फलदार पौधा लगाने का निर्देश दिया था।  इसी के तहत 24 जुलाई 2019 को सदर बीईईओ द्वारा मध्य विद्यालय सुदना में फलदार पौधे लगाये गये।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप