संवाद सूत्र,  हरिहरगंज : हरिहरगंज प्रखंड के बेलौदर पंचायत अंतर्गत भगततेंदुआ चित्रांश आइटीआइ कॉलेज में रविवार को डॉ. मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया के जन्म दिवस पर अभियन्ता डे मनाया गया। एसआरएम चित्रांश आइटीआइ कॉलेज के निर्देशक सुमित श्रीवास्तव ने बताया कि भारत में प्रति वर्ष 15 सितंबर को अभियंता दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन भारत के महान अभियंता व भारत रत्न डॉ. मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का जन्म दिवस मनाया जाता है। डा. मोक्षगुंडम भारत के महान अभियंताओं में एक थे।इन्होंने ही आधुनिक भारत की रचना की और भारत को नया रूप दिया। साथ ही छात्र व छात्राओं को कहा कि आज के टेक्निकल युग में सभी विद्यार्थियों को टेक्नीकल की शिक्षा लेना चाहिए ताकि डा. मोक्षगुंडम जैसे महान अभियंता बन सके। मौके पर जयनंदन मौर्य, चंदन प्रजापति व सौरभ राजसुमन ने विधार्थियों को डा. मोक्षगुंडम के जीवनी व इंजीनियर डे के बारे में बताया कि डॉ मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का जन्म 15 सितम्बर 1860 ई. मे मैसूर में हुआ था। जो आज कर्नाटक राज्य बन गया। डा. विश्वेश्वरैया को मॉडर्न मैसूर स्टेट का पिता भी कहा जाता है। जब मैसूर सरकार के साथ काम किया तब उन्होंने परजीवी प्रयोग शाला, आयरन एंड स्टील फैक्ट्री, श्री जय चमराजेंद्र पोलटेक्निक संस्थान, एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के साथ विश्वेश्वरैया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिग की स्थापना करवाई। जिससे लाखों विद्यार्थी इंजीनियर बन कर देश विदेश में अपना योगदान दे रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप