- राजस्व वसूली में अप्रत्यासित वृद्धी को लेकर जताई चिंता जागरण संवाददाता, पाकुड़ : राज्य सरकार के द्वारा हाल में राजस्व की दरों में किए गए अप्रत्याशित वृद्धि को लेकर पाकुड़ विधायक सह कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने मुख्यमंत्री रघुवर दास व उनके सचिव को पत्र लिखा है। जिसमें सीएम से इस पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया गया है।

अपने पत्र में विधायक ने कहा है कि अधिसूचना संख्या खन. 04-2018, 1509एम रांची, दिनांक 19.09.2019 एवं झारखंड गजट संख्या 730, रांची दिनांक 19.09.2019 द्वारा राजस्व की दरों में अप्रत्याशित वृद्धि कर दिया गया है। इससे साहिबगंज व पाकुड़ से जुड़े पत्थर व्यवसायियों के साथ-साथ गरीब मजदूरों का भविष्य खतरे में दिखाई पड़ रहा है। दोनों जिलों में पत्थर व्यवसाय बंद होने से बेरोजगारी बढ़ेगी तथा पलायन का सिलसिला शुरु हो जाएगा। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा है कि पट्टों का नवीकरण दिनांक 31.03.2020 के बाद नहीं किए जाने से पत्थर व्यवसाय से जुड़े लघु उद्योग उद्यमियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। विधायक आलम ने आग्रह करते हुए कहा कि लोकहित व जनहित में इस महत्वपूर्ण विषय पर पुनर्विचार कर राजस्व की दरों में किए गए अप्रत्याशित वृद्धि को कम करने तथा 31.03.2020 के बाद पट्टों का नवीकरण करने हेतु आदेश संबंधित पदाधिकारी को जारी किया जाए। जिससे हजारों लोग बेरोजगार होने से बच सकें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप