Move to Jagran APP

pakur news पाकुड़ में एक साथ 108 दूल्हे के सिर सजा सेहरा

अर्था अभाव में बेटियों की शादी नहीं कर पाने वाले लोगों को राहत देते कई संस्था के लोगों ने मिलकर पाकुड़ में 108 लड़कियों की सामूहिक विवाह कराया। मौके पर पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री सह सांसद जनार्दन प्रसाद सिंगरीवाल ने कहा कि भारतीय संस्कृति में कन्यादान सबसे बड़ा महादान है।

By Jagran NewsEdited By: Gautam OjhaPublished: Sat, 12 Nov 2022 06:59 PM (IST)Updated: Sat, 12 Nov 2022 06:59 PM (IST)
नव विवाहिताओं को आशीष देते पूर्व केंद्रीय मंत्री सह सांसद जनार्दन प्रसाद सिंगरीवाल।

जागरण संवाददाता,पाकुड़: शहर के शिव शीतला मंदिर प्रांगण में शनिवार को 108 गरीब बेटियों का सामूहिक विवाह संपन्न हुआ। जहां एक साथ 108 दूल्हे के सिर सेहरा बांधकर पहुंचे थे जबकि मंदिर परिसर में इतनी ही दूल्हने अपने दूल्हे के इंतजार करती दिखी। मौके पर पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री सह सांसद जनार्दन प्रसाद सिंगरीवाल समारोह में पहुंच नव विवाहित जोड़ों को आर्शीवाद दिया। इस सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन आईएसी इलेक्ट्रिकल प्राइवेट लिमिटेड कोलकाता, बीडी गाड़ोदिया मेमोरियल ट्रस्ट कोलकाता, बैधनाथ सेवा संघ चैरिटेबल ट्रस्ट नवादा रायगढ़ और ब्याहुत कलवार सेवा समिति पाकुड़ की ओर से किया गया। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे।

सामूहिक विवाह समारोह में कतारबद्ध से खड़ी दूल्हनें। जागरण 

विवाह समारोह का आयोजन सुबह के 10 बजे से ही शुरू हो गई थी। सबसे पहले सभी जोड़ों को आयोजकों की ओर से विवाह का वस्त्र भेंट किया गया। जिसके बाद सजधज कर तैयार वर वर वधु का वरमाला कराया गया। वर माला के बाद सामूहिक बारात निकाली गई। जिसे देखने के लिए भारी भीड़ रही। विवाह समारोह का समापन हवन साथ हुआ। हवन के दौरान महिलाओं ने मंगल गीत गाई। बाद में संस्था की ओर से नवदंपती को उपहार दिया गया। इस सामूहिक विवाह समारोह में महाराजगंज के भाजपा सांसद सह पूर्व केंद्रीय मंत्री जनार्दन प्रसाद सिंगरीवाल शामिल हुए। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति में कन्यादान महादान है। एक साथ 108 कन्याओं का कन्यादान बहुत बड़ा पुण्य का काम है। ऐसे युवक-युवतियों की विवाह जिनके माता-पिता सक्षम नहीं है, वैसे वर-बधुओं शादी कराई जा रहा है। इस सामूहिक विवाह के आयोजन से बहनों को घर मिल गया औऱ वह सुखी जीवन व्यतीत करें ये हमारी कामना है।

सामूहिक विवाह समारोह में कतारबद्ध खड़े दूल्हा।

समारोह के व्यवस्थापक विश्वनाथ भगत ने बताया कि एक सप्ताह में संस्था की ओर से मुस्लिम समाज के चार-पांच गरीब लड़कियों का ब्याहुत धर्मशाला में निकाह कराया जाएगा। मौके पर अनुप अग्रवाल, वृजमोहन गाड़ोदिया, अशोक वर्मा, डा. सुबोध कुमार, सुशील कुमार भगत, पूर्णिमा मंडल, सुनील कुमार तोला, जमुना पहाड़िया, पूनम देवी, कुंदन ठाकुर, प्रतीक गायत्री परिवार के सदस्य सैकडो लोग मौजूद थे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.