पाकुड़, जागरण संवाददाता। बिचामहल पंचायत के छह गांवों में गुरुवार को झारखंड सरकार के ग्रामीण विभाग के उप सचिव जितेंद्र कुमार देव ने विकास योजनाओं की जांच की। स्टेट प्रोग्राम प्रबंधक रोशन पिगवा एवं प्रशाखा पदाधिकारी मुकेश कुमार मौजूद थे। बलरामपुर और लेटबाड़ी सहित अन्य गांव में योजनाओं की जांच की गई।

बलरामपुर में जोहरलाल मंडल का मनरेगा के तहत निर्मित डोबा, अरुण मंडल और बबलू तुरी का प्रधानमंत्री आवास का निरीक्षण किया। लेटबाड़ी में बुधन ठाकुर, पूंकी दासी, लखन टुडू और अंजनी देवी के आवास का निरीक्षण किया। साथ ही बिचामहल में टुयलो हांसदा के सिंचाई कूप का निरीक्षण किया। लाभुकों को यथाशीघ्र कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया।

निरीक्षण के दौरान मौजूद रहे ये लोग

लाभुकों ने कहा कि बालू नहीं मिलने के कारण हम लोग आवास को पूर्ण नहीं कर पा रहे हैं। जैसे ही बालू मिलेगा, हमलोग घर बना लेंगे। प्रखंड विकास पदाधिकारी संजय कुमार बीपीओ मानिक चंद्र दास सहायक अभियंता साईमन कनीय अभियंता प्रदीप टूडू, पंचायत सचिव ,रोजगार सेवक आदि थे। करमाटार पंचायत में जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रमोद कुमार दास,सोनाधनी पंचायत में जिला पशुपालन पदाधिकारी व लिट्टीपाड़ा पंचायत में जिला कृषि पदाधिकारी ने विकास योजना का निरीक्षण किया।

यह प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2015 में शुरू की, ताकि देश के गरीब परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध हाे सके। 2011 की सामाजिक व आर्थिक गणना के आधार पर पात्रों का चयन किया गया। सरकार इसके लिए प्रति परिवार काे एक लाख 20 हजार रुपये दे रही है।

Edited By: Rohit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट