पाकुड़ : नेशनल वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम (एनवीवीडीसीपी) दिल्ली के सहायक निदेशक डॉ. नरेश गिल ने शनिवार को जिले के हिरणपुर व अमड़ापाड़ा प्रखंड के गांवों में पहुंच छिड़काव कार्य का जायजा लिया। सहायक निदेशक ने छिड़काव कर्मियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। इस दौरान जिला मलेरिया पदाधिकारी डा. एसके मेहरोत्रा व मलेरिया निरीक्षक किशोर कुमार भी मौजूद थे।

सहायक निदेशक ने हिरणपुर प्रखंड के मुर्गाडांगा तथा अमड़ापाड़ा प्रखंड के बड़ा पहाड़पुर गांव पहुंच कालाजार के लिए किए जा रहे एसपी पाउडर छिड़काव का जायजा लिया। दोनों गांव कालाजार का डेंजर जोन है। दोनों गांवों के सभी घरों में एसपी पाउडर का छिड़काव करने का निर्देश दिया। छिड़काव कार्य में ग्रामीणों द्वारा बाधा डालने पर उसे अच्छी तरह से समझाना है। कालाजार रोग के बारे में ग्रामीणों को बताएं। छिड़काव कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही न बरतें। इसके बाद सहायक निदेशक ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमड़ापाड़ा में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व जिला मलेरिया पदाधिकारी के साथ बैठक की। कालाजार मरीजों के उपचार व नियंत्रण के लिए चल रहे कार्यक्रम के बारे में जानकारी ली। कीटनाशक छिड़काव का अद्यतन स्थिति की जानकारी ली। सहायक निदेशक आज पाकुड़ प्रखंड के मालपहाड़ी और मालीपाड़ा गांव पहुंच छिड़काव कार्य का जायजा लेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप