जागरण संवाददाता, पाकुड़ : झारखंड में रविवार से स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के दौरान लॉकडाउन में सख्ती बढ़ा दी गई है। दूसरे दिन सोमवार को लोगों में खाकी का खौफ दिखा। दोपहर दो बजे के बाद जिला मुख्यालय में सभी प्रतिष्ठान स्वत: बंद हो गए। दुकानदारों ने भी समझदारी दिखाई। दोपहर दो बजे से शहर में पुलिस का पहरा शुरू हो गया। नगर थाना के पास एसआइ आरके मिश्रा व एएसआइ शिवशंकर भगत ने वाहनों की जांच की। बिना ई-पास के वाहन चलाने वाले लोगों को चेतावनी दी गई। सड़क पर बेवजह घुमने वालों को डांट-फटकार के बाद छोड़ दिया गया।

एसडीपीओ अजित कुमार विमल, पुलिस निरीक्षक थाना प्रभारी गोपाल कृष्ण यादव ने शहरी क्षेत्र का जायजा लिया। हालांकि सुबह छह बजे से बाजार में चहल-पहल थी। लोग सब्जी सहित अन्य जरूरी सामान खरीदने के लिए निकले थे। शहर में वाहनों का परिचालन भी हो रहा था।

------------

ई-पास बनाने में हो रही परेशानी

झारखंड सरकार ने ई-पास लेकर वाहनों से आवागमन की अनुमति दी है। वैक्सीन लेने, दवा खरीदने और शव यात्रा के लिए ई-पास की आवश्यकता नहीं है। मगर, ई-पास बनाने में लोगों को काफी परेशानी हो रही है। इसका प्रमुख कारण सर्वर की धीमी रफ्तार बताया जा रहा है। कई लोगों ने अपने मोबाइल से भी ई-पास बनाने का प्रयास किया, लेकिन बहुत कम लोग ही सफल हुए। सोमवार को दिनभर लोग ई-पास बनाने में व्यस्त दिखे। ---------------------

महेशपुर में लाउडस्पीकर से किया सावधान

लॉकडाउन में बढ़ी सख्ती का अनुपालन कराने के लिए महेशपुर थाना के एएसआइ मृत्युंजय पाठक ने प्रखंड मुख्यालय में माइकिग कर लोगों को सावधान किया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोपहर दो बजे के बाद पूर्ण लॉकडाउन है। इसलिए कोई भी व्यक्ति बाहर न घुमें। दुकानदार किसी कीमत पर दुकानें नहीं खोलें। लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी। एएसआइ ने रोलाग्राम, बड़क्यारी, सोनारपाड़ा, इंग्लिशपाड़ा गांव में भी माइकिग कर लोगों को जागरूक किया। ----------------------------

हिरणपुर में चला वाहन जांच अभियान

हिरणपुर थाना की पुलिस ने सोमवार को थाना क्षेत्र के कई स्थानों पर वाहन चलाया। सुभाष चौक के निकट पुलिस पदाधिकारियों ने छोटी-बड़ी वाहनों की जांच की। मास्क नहीं पहनने वाले को चेतावनी दी गई। थाना प्रभारी अमित तिवारी ने कहा कि बिना ई-पास के वाहन चलाने पर कार्रवाई होगी। वाहन चलाते समय मास्क पहनना भी अनिवार्य है।