जागरण संवाददाता, लोहरदगा : लोहरदगा जिला के सदर अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने को लेकर कई जरूरी काम किए गए हैं। कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावना को लेकर बच्चों के स्वास्थ्य और उनके इलाज की व्यवस्था को प्राथमिकता के तौर पर रखा गया है। लोहरदगा सदर अस्पताल में मैनीफोल्ड ऑक्सीजन प्लांट का बुधवार को ट्रायल किया गया। जिसमें ट्रायल सफल हुआ है। कुछ एक कमियों को दुरुस्त करने का कार्य किया जा रहा है। अगले 24 घंटे में मैनीफोल्ड ऑक्सीजन प्लांट काम करना शुरू कर देगा। इस ट्रायल का निरीक्षण एसडीओ अरविद कुमार लाल, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी मनीषा तिर्की, कार्यपालक दंडाधिकारी अमित बेसरा, कोविड-19 के लोहरदगा नोडल पदाधिकारी और सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉक्टर शंभूनाथ चौधरी ने किया। जिसमें जरूरी आवश्यकताओं की जांच की गई। साथ ही कुछ एक कमियों को लेकर निर्देश भी दिए गए। इसके अलावे सदर अस्पताल परिसर के प्रथम तल्ला में बच्चों के लिए एसएनसीयू वार्ड का भी निरीक्षण अधिकारियों की टीम ने किया है। सदर अस्पताल में स्पेशल न्यूबॉर्न केयर यूनिट (एसएनसीयू), रेडिएंट वार्मर, फोटो थेरेपी की सुविधा, आईवी की सुविधा, मॉनिटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, कंस्ट्रेटर, पाईपलाइन, मैनीफोल्ड ऑक्सीजन प्लांट की सुविधा बहाल की गई है। एसएनसीयू वार्ड में कुल 12 बेड हैं। जिसमें कई आवश्यक सुविधाएं प्रदान की गई है। सभी सुविधाओं का जायजा अधिकारियों की टीम ने लिया है। सदर अस्पताल तमाम प्रकार की सुविधाओं से अपडेट हो रहा है। इसी कड़ी में जरूरी सुविधाओं को बहाल करने का काम किया गया है। एसडीओ अरविद कुमार लाल और कोविड-19 के जिला नोडल पदाधिकारी डा. शंभूनाथ चौधरी ने कहा है कि हम व्यवस्थाओं को और भी बेहतर करने को लेकर लगातार काम कर रहे हैं, जो भी कमियां हैं उसे दूर किया जा रहा है।

Edited By: Jagran