कैरो (लोहरदगा) : सुनने में थोड़ा अजीब लगता है पर यह है सच। यहां इलाज और दवा तो मिल सकती है पर पानी की गारंटी नहीं है। स्थिति हद तो तब है जब हाल यह है कि पूरे प्रखंड में एक मात्र अस्पताल होने के बावजूद यहां मूलभूत सुविधाओं की बात तो दूर समस्याओं के निराकरण की दिशा में भी प्रयास शून्य है। कैरो प्रखंड के उप स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सीय व्यवस्था के समर्पण की तस्वीर में पेयजल का संकट कालिक पोतने का काम कर रहा है। प्रखंड मुख्यालय स्थित उप स्वास्थ्य केंद्र परिसर का हैंडपंप विगत 15 दिनों से खराब है, जिसके कारण अस्पताल आने वाले मरीजों, कर्मियों व आसपास के ग्रामीणों को पेयजल के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उप स्वास्थ्य केंद्र परिसर में एकमात्र हैंडपंप है, जिसका उपयोग पेयजल के लिए होता है। साथ ही स्वास्थ्य केंद्र की साफ-सफाई में भी पानी का उपयोग होता है, परंतु विगत 15 दिनों से हैंडपंप खराब हो जाने के कारण पेयजल समस्या उत्पन्न हो गई है। खासकर दूर-दराज से अस्पताल आने वाले ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण सुधीर तिग्गा, सतार अंसारी, ¨चतामणी रजक, प्रेम पांडे आदि ग्रामीणों का कहना है कि एक महीने पूर्व ही हैंडपंप की मरम्मत हुई थी, बावजूद तुरंत हैंडपंप खराब हो गया। हैंडपंप खराब होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कनीय अभियंता सुमन खलखो का कहना है कि 2-3 दिनों के भीतर पुन: खराब पड़े हैंडपंपों की मरम्मत की जाएगी। समस्याओं के समाधान की दिशा में विभाग प्रयासरत है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस