लोहरदगा : लोकसभा निर्वाचन-2019 के अंतर्गत 29 अप्रैल को 12-लोहरदगा संसदीय क्षेत्र में घोषित मतदान को लेकर उपायुक्त कार्यालय के सभा भवन में सेक्टर पदाधिकारियों व जोनल मजिस्ट्रेट को प्रशिक्षण दिया गया। वहीं प्लस-2 नदिया हिदू उच्च विद्यालय में क्लस्टर इंचार्ज को प्रशिक्षण दिया गया। सभा भवन में प्रशिक्षण ले रहे सेक्टर पदाधिकारियों व जोनल मजिस्ट्रेट को संबोधित करते हुए जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त आकांक्षा रंजन ने कहा कि मतदान शांतिपूर्ण कराना आप सभी की जिम्मेदारी है। चुनाव कार्य में कोताही बरतते हुए या फिर किसी तरह की लापरवाही की शिकायत मिली तो सीधी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मतदान के दिन सेक्टर पदाधिकारियों को लगातार मूवमेंट करते रहना है। जीपीएस प्रणाली से आपके वाहन की ट्रैकिग होगी ऐसे में आप अपने कार्यों के प्रति जिम्मेवार रहें। मतदान केंद्र के दो सौ मीटर के दायरे में किसी राजनीतिक दल या पार्टी का झंडा या हेल्प डेस्क लगा हुआ नहीं हो तो उसे मतदान के पहले हटाना सुनिश्चित कर लें। प्रशिक्षण के दौरान अपर समाहर्ता अंजनी मिश्रा, डीआरडीए निदेशक अखौरी शशांक एवं उप जिला निर्वाचन पदाधिकारी विशालदीप खलखो समेत अन्य मौजूद थे। ---मॉक पोल 6 बजे शुरु कराएं

प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर महेंद्र कुमार ने सभी प्रशिक्षणार्थियों को बताया कि मतदान के दिन हर हाल में सुबह 6 बजे मॉक पोल शुरु करा लें, अगर बूथ पर पोलिग एजेंट नहीं है तो सुबह 6 बजकर 16 मिनट में मॉक पोल अपनी उपस्थिति में कर लें । एमएसएस के माध्यम से मतदान केंद्र में पहुंचने की रिपोर्ट, मॉक पोल कराने की रिपोर्ट, मतदान शुरु होने की रिपेार्ट, प्रत्येक दो-दो घंटे के अंतराल पर, मतदान की स्थिति की रिपोर्ट आदि कंट्रोल रुम को भेजते रहें। पीठासीन पदाधिकारी द्वारा डायरी ठीक से भरा जाए, ताकि री-पोल की स्थिति से बचा जा सके। प्रशिक्षण में मतदान के पूर्व के कार्य, मतदान के दिन और मतदान के बाद के दायित्वों का बोझ कराया गया। प्रशिक्षण में सभी को बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट व वीवीपैट को आपस में जोड़ने के अलावा मतदान के बाद ईवीएम सील करने व अन्य जरुरी होने की जानकारी दी गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप