महुआडांड़ (लातेहार) : लातेहार जिले को प्रकृति ने फुर्सत से संवारा है। जिले का प्राकृतिक सौंदर्य लोगों को खुद पर मुग्ध होने को विवश करता है। वहीं नेतरहाट की वादियां धरती पर स्वर्ग होने का एहसास दिलाती है। एक बार जो नेतरहाट चला गया, वह नेतरहाट को जिंदगी भर नहीं भूल सकता है। नेतरहाट का सनसेट व सनराइज देखने के लिए दुनिया के कई क्षेत्रों से पर्यटक आते हैं। मैग्नोलिया प्वाइंट, नासपाती बगान, अपर घघरी, लोअर फॉल, शैले हाउस, पलामू बंगला आदि की सुंदरता नेतरहाट की खूबसूरती में चार चांद लगा देती है। वही यहां से ऊंची-ऊंची चोटियों व खाइयों से विहंगम दृश्यों की सुंदरता देखते बनती है। यहां की वादियों में चलने वाली ठंडी हवा मन के तार को बरबस ही छेड़ने लगती है। समुद्रतल के 3761 फिट की ऊंचाई पर बसे नेतरहाट की वादियों में बस जाने का मन करता है। वहीं महुआडांड़ जंगालों में सुग्गा फॉल जलप्रपात के कलकल पानी की झनझनाहट जंगलों की चुप्पी को तोड़ मन मोह लेती है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर