संसू, चंदवा (लातेहार) : चंदवा थाना क्षेत्र के गांव की एक किशोरी को बेचने का मामला प्रकाश में आया है। किशोरी के माता-पिता न्याय की गुहार लगाने चंदवा थाने पहुंचे तब मामले का खुलासा हुआ। माता-पिता ने थाना क्षेत्र के बोदा निवासी अफजल पर आरोप लगाया कि उसकी शादी की बात पर भरोसा किया लेकिन उसने धोखा देकर बच्ची को चार साल पहले दिल्ली में मात्र 40 हजार में बेच दिया। उसकी आयु 15-16 की थी। जब वहां किसी बात पर अनबन हुई तो दोबारा उसे बदायूं (यूपी) के एक अधेड़ को शादी के नाम पर 85 हजार में बेच दिया गया। अब माता-पिता थाने से गुहार लगा रहे हैं किसी तरह बच्ची को मुक्त कराया जाए।

बता दें कि चार साल उस नाबालिग छात्रा के साथ तीन दिनों तक गैंगरेप हुआ। इस घटना से नाबालिग के साथ उसके स्वजन सदमे में आ गए। नाबालिग और उसके परिवार की तात्कालिक स्थिति का लाभ उठाकर बोदा गांव के युवक ने उसे काम दिलाने का झांसा देकर दिल्ली में ले जाकर बेच दिया। नाबालिग के माता-पिता जब भी बेटी के बारे में पूछते वह बताता कि काम पर है। संदेह होने के बाद स्वजनों ने अपने स्तर से जानकारी जुटाई तो ज्ञात हुआ कि जो युवक उसे काम दिलाने के नाम पर ले गया था, उसने दिल्ली में उसे 40 हजार में बेच दिया। उस दलाल ने भी यूपी के बदायूं के रहने वाले एक अधेड़ यादव जी (पीड़िता की मां के अनुसार) के पास 85 हजार में बेच दिया। युवती नाबालिग है और उस अधेड़ जिसकी उम्र करीब 50 होगी उसने उसके साथ विवाह रचाया। स्वजनों ने इसकी शिकायत पुलिस से की। अब उसकी एक बेटी भी हो गई।

अफजल पर कई आरोप

स्वजनों ने जिस आरोपी अफजल पर अपनी नाबालिग बेटी को बेचने का आरोप लगाया है उस पर पूर्व से ही अन्य लड़की को बेचने का आरोप है। चंदवा थाना में उसके खिलाफ संबंधित मामले पर वारंट भी निकला हुआ है। चंदवा थाना पुलिस को वह अब तक चकमा देने में सफल रहा है। चंदवा थाना पुलिस की मानें तो आरोपी को दबोचने के लिए छापामारी अभियान चलाया जा रहा है।

कोट ::

किशोरी को बेचे जाने का मामला बेहद गंभीर है। इस मामले की जानकारी मिली है विस्तृत छानबीन के साथ पुलिस की ओर से मामले में त्वरित कार्रवाई की जाएगी।

आशुतोष कुमार, पुलिस निरीक्षक सह थानेदार चंदवा।

Edited By: Jagran