जयनगर (कोडरमा): प्रखंड के बराकर नदी के तिलोकरी घाट से अवैध तरीके से बालू उठाव को लेकर मंगलवार की सुबह टकराव की स्थिति उत्पन्न हुई। इस दौरान कुछ बालू माफियाओं के साथ मॉब ¨ल¨चग जैसी घटना होते-होते रह गई। नदी से बालू लोड करने वाले ट्रैक्टर के चालकों से अवैध वसूली कर रहे माफिया तत्वों की ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर बंधक बना लिया। इस दौरान तिलोकरी के भोला यादव और अलगडीहा के संजय ¨सह भाग निकले जबकि मुबारक अंसारी महुआगढा, र¨वद्र यादव घुरमुंडा और राजेश पंडित ग्रामीणों के चंगुल में फंस गए। ग्रामीणों ने अवैध रूप से बालू लोड कर रहे बारह ट्रैक्टरों को भी जब्त कर लिया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और बंधक बनाये गये लोगों व ट्रैक्टर को मुक्त कराकर थाने ले आई। इस दौरान तिलोकरी के ग्रामीणों ने लगभग दो घंटे तक हंगामा किया। लोग बालू उठाव पर रोक लगाने की मांग कर रहे थे। घटना की सूचना मिलने के बाद अंचल अधिकारी विजय हेमराज खलको, बीडीओ अमित कुमार, अवर निरीक्षक विजय कुमार गिरी, विद्यानंद गिरी दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और बंधक बनाये गये लोगों को अपने कब्जे में लेकर थाना ले गये। सुरेश साव के नाम पर होती है वसूली जयनगर: ग्रामीणों के अनुसार गड़गी निवासी अपराधी सुरेश साव के नाम पर इन बालू माफियाओं द्वारा वसूली की जाती है। बालू उठाव का विरोध करने पर ग्रामीणों को अपराधी सुरेश साव का हवाला देकर धमकी दी जाती है। ग्रामीणों ने बताया कि प्रतिदिन पचास ट्रैक्टर बालू अवैध रूप से निकाली जाती है और इनलोगों द्वारा प्रत्येक गाड़ी से 400 से 500 सौ रूपया बसूली की जाती है। बालू उठाव के कारण सड़क की स्थिति नारकीय बन गई है, जिससे आम लोगों को उक्त रास्ते पर चलना दूभर हो गया है।

Posted By: Jagran