संवाद सहयोगी, झुमरीतिलैया, (कोडरमा): ग्रामीण क्षेत्र के वैसे बिजली उपभोक्ता जिन्होंने पिछले कई वर्षो से लंबित बिजली बिल का भुगतान नहीं किया हो, उनके लिए सरकार ने बड़ी राहत देने की घोषणा की है। वर्तमान समय में उसके बिजली बिल की राशि चक्रवृद्धि ब्याज समेत बड़ी राशि हो गई है। ऐसे सभी उपभोक्ताओं को सरकार की घोषणा के अनुरूप बकाए ग्रामीण घरेलू बिजली बिल के ब्याज की माफी की योजना ओटीएस यानी वन टाइम सेटलमेंट स्कीम लाई गई है। इस योजना के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं के बकाए बिजली बिल के ब्याज को माफ कर दिया जाएगा। ब्याज राशि माफी के उपरांत लंबित बिजली बिल की राशि अधिकतम चार किस्तों में कोई भी ग्रामीण उपभोक्ता जमा कर सकते हैं। या कोई उपभोक्ता एक ही बार में जमा दे सकते हैं। इसके लिए एक आवेदन भरना होगा। उसमें एक बार में जमा दे सकते हैं या अधिकतम चार किस्तों में उल्लेख कर फॉर्म जमा किया जा सकता है। ::::जिले के 32 हजार ग्रामीण उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ :::: सरकार के घोषित ओटीएस योजना के तहत जिले के 32 हजार ग्रामीण बिजली उपभोक्ता को लाभ मिलेगा। विभागीय जानकारी के अनुसार इस योजना में जिले में लगभग 6 करोड़ रुपये ब्याज माफ की जाएगी। इस योजना के लागू होने से बकाए घरेलू ग्रामीण उपभोक्ताओं को काफी राहत मिलेगी। कोडरमा जिले के 3 सब डिविजनों ग्रामीण क्षेत्र में 65 हजार उपभोक्ता है। जबकि लगभग 32 हजार लाभुकों पर बिल बकाया है। -- क्या कहते अधिकारी ::::::::::::

बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता प्रणव तिवारी ने कहा कि सरकार की घोषणा के अनुरूप ग्रामीण घरेलू बिजली बिल बकायेदारों के ब्याज को माफ किया जा रहा है। यह स्कीम यानी ओटीएस 16 जून से लागू हो चुकी है, जो 15 सितंबर तक चलेगी। इसमें बकाएदार ब्याज को एक बार जमा दे सकते हैं या अधिकतम चार किस्तों में कुल बकाए रुपयों के 25 फीसद की दर से जमा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिले के अलग-अलग इलाकों में कैंप लगाकर भी विद्युत बकाया बिल वसूले जाएंगे।

Edited By: Jagran