संवाद सहयोगी, झुमरीतिलैया: ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान चेचाई में बैंक आफ इंडिया के जिले के बीस शाखाओं के प्रबंधकों के साथ आंचलिक प्रबंधक वीवी किशोर ने बैठक की। बैठक में मुख्य रूप से उप आंचलिक प्रबंधक अनिल झा एलडीएम महेश प्रसाद, एरिया मैनेजर विमलकांत झा, आरसीटी के निर्देशक अमरदीप केशरी, बीओआइ झुमरी तिलैया के मुख्य प्रबंधक संतोष सिन्हा उपस्थित थे। इस अवसर पर आंचलिक प्रबंधक का कोडरमा पहुंचने पर बैंक के अधिकारियों ने स्वागत किया। मौके पर आंचलिक प्रबंधक हजारीबाग वीवी किशोर ने शाखा प्रबंधकों को निर्देश दिया कि खुदरा एवं लघु उद्योग को बढावा देने के लिए समय सीमा पर ऋण उपलब्ध कराएं ताकि लाभुकों को बैंकिग व्यवस्था का लाभ मिल सके। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बैंक का मुख्य उद्धेश्य समाज के अंतिम पायदान तक के लोगों को बैंकिग व्यवस्था से जोडना है। उन्होंने यह भी कहा कि महिला स्वयं सहायता समूह को ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षण के उपरांत वैसी योजनाओं से जोडें जिस चीज में उसने दक्षता हासिल की है। उसके बाद उन्हें उसके ट्रेड का बढ़ाने के लिए ऋण उपलब्ध कराएं। वैसे उपभोक्ता जिनका खाता एनपीए हो गया वो बैंक के शाखाओं में पहुंचकर एनपीए खाता को सुधार करवाएं। इसके लिए उन्होंने सभी खाता प्रबंधकों 150 ग्राहक सेवा केन्द्र के संचालकों एवं अधिकारियों से राशि के भुगतान के लिए लगाया गया है। वहीं आगामी 11 दिसम्बर को लगने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए कोडरमा जिले के 20शाखाओं से लगभग 15 सौ ग्राहकों से राशि जमा कराने की अपील की। इन उपभोक्ताओं पर लगभग 11 करोड़ रूपये बकाया है। बैठक में शाखा प्रंबंधकों में मनीष कुमार, अजीत चैरसिया, बलवंत कुमार, पंकज कुमार, संदीप कुमार, कौलेश्वर कुमार, रश्मिी रूचि, कुमारी आर्या आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran