संवाद सहयोगी, कोडरमा : जिले में 27 पैक्सों के माध्यम से 15 दिसंबर से धान खरीद शुरू हुई थी। गोदाम भर जाने से खरीद पर रोक लग गई है। सभी पैक्सों में उपलब्ध गोदामों में क्षमता के अनुसार धान खरीद लिया गया। उसके बाद से इन गोदामों से धान का उठाव नहीं हो पा रहा है। लिहाजा दो-तीन पैक्सों को छोड़ अधिकतर पैक्सों में धान क्रय को रोक लगा दी गई है।

सरकार की ओर से जिले को ढाई लाख क्विटल धान क्रय का लक्ष्य दिया गया है। इसमें अब तक 43,235 क्विटल धान की खरीद हुई है। अब तक निबंधित 7,066 किसानों में से 1,065 किसानों ने धान बेचा है। पैक्स गोदामों से धान उठाव को लेकर दोनों मिल संचालकों से वार्ता की जा रही है। डीएसओ प्रमोद राम के अनुसार ,

मिल संचालकों द्वारा सीएमआर देने के बाद ही उठाव की प्रक्रिया शुरू की

जाएगी। फिलहाल सतडीहा, बंगाखलार एवं झुमरीतिलैया पैक्स को छोड़ अन्य पैक्सों में धान की खरीद की गई है। गोदाम खाली होते ही धान खरीद दोबारा शुरू की जाएगी। किसानों का समय पर भुगतान भी हो रहा है। यहां तक कि 15 दिसंबर को

खरीद शुरू होने के साथ ही कई किसानों का भुगतान भी हो गया। धान क्रय प्रभावित होने से किसानों की समस्या बनी हुई है। प्रखंडों में सस्ते

दर पर धान क्रय करने वाले बिचौलिए भी सक्रिय हैं। इससे किसानों को भारी नुकसान हो रहा है। जयनगर में धान खरीद नहीं होने से किसान परेशान

जयनगर के अधिकतर पैक्स के गोदाम धान से भर गए हैं। ऐसे में किसान परेशान हैं। प्रखंड के डंडाडीह पैक्स में अब तक 1838 क्विटल, परसाबाद में 457 क्विटल, रूपायडीह में 500 क्विटल, मकतपुर में

500 क्विटल तथा सतडीहा में 500 क्विटल धान की खरीदारी हो पाई है। प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी शंकर प्रसाद ने बताया कि राइस मिल द्वारा एफसीआइ को एडवांस में चावल उपलब्ध करा दिया जाता है। उसके एवज में वह धान की

खरीदारी करता है। इस बार राइस मिल अब तक एफसीआइ को चावल उपलब्ध नहीं कराया है। पैक्सों का गोदाम भर जाने के कारण फिलहाल धान क्रय तीव्र गति से नहीं हो पा रहा है। शंकर ने बताया कि आनलाइन डाटा चढ़ाने में थोड़़ी-बहुत परेशानी हो रही है। इसे एक-दो दिन के अंदर ठीक कर लिया जाएगा। सतगावां के पैक्सों में धान खरीद ठप

सतगावां : सतगावां प्रखंड में धान क्रय करने के लिए 5 पैक्सों को दिया गया था, लेकिन सभी पैक्स गोदाम भर गए हैं। इससे धान की खरीदी नहीं हो पा रही है और किसानों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही हैं। इस बीच मौसम में बदलाव होने से किसानों के बीच परेशानी बढ़ गई है। खेत खलिहानों मे रखे धान बर्बाद हो रहे हैं। किसानों के अनुसार किसी तरह धान झारकर पैक्स पहुंचाते हैं तो पैक्स अध्यक्ष लेने से इनकार कर देता है। ऐसे में किसानों के बीच कई तरह की समस्या उत्पन्न हो रही हैं। गुरुवार को पैक्स अध्यक्षों की बैठक हुई। इसमें धान खरीदी पर रोक लगाने की सहमति बनी है। पैक्स अध्यक्ष श्रीकांत सिंह, सुरेन्द्र यादव, राजेश यादव ने बताया कि हम सभी का पैक्स गोदाम फुल है। मिल वाले हमारे पैक्स गोदाम से धान उठाव नहीं कर रहे हैं, इस लिए पैक्स गोदाम फुल हैं। जबतक गोदाम खाली नहीं होता तब तक हम किसानों के धान की खरीदी नहीं कर सकते हैं।

Edited By: Jagran