संवाद सहयोगी, कोडरमा : कोविड 19 के गंभीर मरीजों के बचाव के लिए कई कदम उठाए गए हैं। डीसी रमेश घोलप ने बैठक कर लोगों को किसी भी तरह के लक्षण पर तुरंत जांच कराने की अपील की है। जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने एवं मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए हास्पिटल मैनेजमेंट टास्क फोर्स का गठन किया गया है। एसडीओ को वरीय पदाधिकारी बनाया गया है। यह टीम निजी अस्पतालों में गंभीर मरीजों को आक्सीजन सपोर्टेड बेड उपलब्ध कराने एवं बेहतर स्वास्थ्य सेवा में सहयोग करेंगे। उपायुक्त ने प्रतिनियुक्त पर्यवेक्षकों को भर्ती मरीजों के संबंध में समस्त सूचना नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। उपायुक्त ने सभी दवा विक्रेताओं के साथ भी बैठक कर कहा कि सभी प्रकार की दवाएं उपलब्ध रहे, यह सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर जिला प्रशासन को सूचित करने को कहा गया। उपायुक्त ने ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लायर के साथ बैठक कर क्षमता का जायजा लिया। आपूर्तिकर्ता ने आश्वासन दिया आवश्यकता के अनुरूप आक्सीजन उपलब्ध कराया गया है। समाजहित में वह आपूर्ति व भडारण क्षमता को बढ़ाएंगे। उपायुक्त ने बताया कि वर्तमान में स्वास्थ्य विभाग के पास 60 ऑक्सीजन सिलेडर, स्थानीय स्तर पर 34 तथा निजी अस्पताल में 42 सिलेंडर है। इस तरह कुल 136 ऑक्सीजन सिलेडर को कभी भी कोविड मरीजों के इलाज के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। सप्लायर ने बताया कि वर्तमान में उसके भंडारण में 40 सिलेंडर में से 15 की सप्लाई वह जिला प्रशासन को कर रहा है तथा 25 रिजर्व में रखा गया है। इसे किसी भी समय उपयोग में लाया जा सकता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप