जागरण संवाददाता, खूंटी : जिले के चयनित चिकित्सकों को थैलेसीमिया और क्रिटिकल केयर यूनिट से संबंधित प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। इसके साथ ही सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों को क्रियाशील बनाया जाएगा। ये बातें जिले के उपायुक्त शशि रंजन ने कहीं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में उन्होंने सभी सीएचओ की प्रतिदिन रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कायाकल्प की रिपोर्ट के आधार पर व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराने का भी निर्देश दिया। उन्होंने अड़की प्रखंड के सुदूरवर्ती बीरबांकी में स्वास्थ्य सुविधाओं को सु²ढ़ करने का निर्देश दिया। इसका अनुश्रवण जिला स्तर से भी किया जाएगा। बैठक में उन्होंने कहा कि सदर अस्पताल के साथ-साथ सभी पीएचसी व सीएचसी में भी व्यवस्थाओं को सु²ढ़ किया जाना महत्वपूर्ण है। इसमें प्रतिनियुक्त अधिकारी व कर्मियों द्वारा अपने दायित्वों का पूर्ण निर्वहन किया जाय ताकि सभी कार्य सुचारू रूप से संपन्न हो सके। उन्होंने कहा कि उचित स्वास्थ्य सुविधा के साथ-साथ अस्पताल प्रबंधन पर भी विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है। साथ ही सुरक्षा के ²ष्टिकोण से समय-समय पर फायर मॉक ड्रिल भी कराया जाय। उन्होंने ब्लड बैंक सेल को निर्देश दिए कि ब्लड बैंक कलेक्शन चेन को मजबूत किया जाय। बैठक में विशेष रूप से आधारभूत संरचना, उपकरण, उपलब्ध संसाधन व उसका उपयोग, स्वास्थ्य प्रबंधन, अन्य महत्वपूर्ण कार्य एवं टीकाकरण के बिदुओं पर पीपीटी प्रेजेंटेशन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

------

980 सैंपल की जांच में नहीं मिला पॉजिटिव

जासं, खूंटी : जिले में सोमवार को कुल 980 सैंपलों की जांच की गई। इनमें से 977 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आया है। वहीं तीन सैंपलों का रिपोर्ट पेंडिग है। रविवार को तीन सक्रिय संक्रमितों के स्वस्थ होने के बाद जिले में कोरोना वायरस के दो सक्रिय संक्रमित रह गया है। दोनों सक्रिय संक्रमित खूंटी प्रखंड क्षेत्र से हैं। इनमें 15 से 29 वर्ष उम्र के एक और 30 से 44 वर्ष उम्र वर्ग के एक संक्रमित है। जिले में अबतक कोरोना वायरस की चपेट में कुल 7820 लोग आ चुके हैं। इनमें 7722 लोग कोरोना वायरस को मात देकर स्वस्थ हुए हैं। दो सक्रिय है और 96 संक्रमितों की मृत्यु हुई है।

Edited By: Jagran