स्वच्छता के मानकों पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले 32 विद्यालय पुरस्कृत

जागरण संवाददाता, खूंटी : स्वच्छता के ग्रामीण और शहरी स्तर के विभिन्न मानकों में उत्कृष्ट कार्य करनेवाले जिले के 32 विद्यालयों को पुरस्कृत किया गया है। ग्रामीण क्षेत्र के पुरस्कार के तहत संपूर्ण अंक (ओवरआल ) आधारित छह और शहरी क्षेत्र के दो विद्यालयों को सम्मानित किया गया। ग्रामीण क्षेत्र के पुरस्कार के उप-श्रेणी स्तर के 18 विद्यालयों को पुरस्कृत किया गया। आदर्श बालिका विद्यालय, खूंटी में सोमवार को आयोजित स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार सह सम्मान समारोह में इन विद्यालयों को पुरस्कृत किया गया। मौके पर उप विकास आयुक्त नीतीश कुमार सिंह, क्षेत्र शिक्षा पदाधिकारी, अतिरिक्त कार्यक्रम पदाधिकारी व अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार, भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा स्कूलों में स्वच्छता और स्वच्छता अभ्यास में उत्कृष्टता को पहचानने, प्रेरित करने और मनाने के लिए स्थापित किया गया है। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार का उद्देश्य उन स्कूलों को सम्मानित करना है, जिन्होंने स्वच्छ विद्यालय अभियान के जनादेश को पूरा करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। मौके पर उप विकास आयुक्त ने कहा कि विद्यालयों में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया गया है। सभी विद्यालयों में स्वच्छ विद्यालय अभियान वृहद पैमाने पर चलाकर बच्चों के बीच स्वच्छता को लेकर विभिन्न पहलुओं के आधार पर विकास किया जा रहा है। क्षेत्र के बच्चों और अभिभावकों को जागरूक करने के लिए प्रभातफेरी व जागरूकता रैली का आयोजन किया गया है। इससे बच्चों को विद्यालयों की महत्ता बताते हुए उन्हें विद्यालय से जोड़ने और बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने का उद्देश्य है। कार्यक्रम के दौरान कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय और डीएवी विद्यालय के प्रधानाचार्य और खेल शिक्षक ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि किस प्रकार स्वच्छता को लेकर जागरूक वातावरण का निर्माण किया गया है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के प्रति सभी छात्रों और अभिभावकों को जागरूक होना होगा। साथ ही इस दौरान डीएवी और कस्तूरबा विद्यालय के छात्राओं ने साफ-सफाई से संबंधित विषयों पर विचार रखे। मौके पर प्रभारी जिला शिक्षा पदाधिकारी, क्षेत्र शिक्षा पदाधिकारी, खूंटी और तोरपा, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सहायक अभियंता, सभी सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी और चयनित विद्यालयों के प्रधानाध्यापक और बाल संसद के सदस्य सहित अन्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran