मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अड़की : हूठ पंचायत अंतर्गत शेरगहातु गांव निवासी 35 वर्षीय हरी मुंडा ने गत बुधवार की रात केरोसिन छिड़ककर अपने शरीर में आग लगा ली। रिम्स में इलाज के दौरान गुरुवार को उसकी मौत हो गई।

मृतक की पत्नी बसंती देवी ने बताया कि घटना की रात हरी मुंडा शराब के नशे में थे। इस कारण पति-पत्नी में कहासुनी हो गई और वह अपने दोनों बेटियों को लेकर बगल के कमरे में सोने चली गई। रात में लगभग 11 बजे हरी मुंडा ने कमरे के अंदर अपने शरीर पर केरोसिन उड़ेल कर आग लगा ली। आग की लपटों से जब वह झुलसने लगा तो वह चीख-पुकार करते हुए कमरे के अंदर इधर-उधर भागने लगा। चीखने की आवाज सुनकर उसके भाई-भाभी वहां पहुंचे और पानी डालकर आग को बुझाया, लेकिन तब तक वह बुरी तरह से जल गया था। इसके बाद 108 एंबुलेंस बुलाकर उसे रिम्स ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। हरी मुंडा पत्थर खदान में मजदूरी कर अपनी पत्नी और दो बेटियों का भरण-पोषण करता था। वह अक्सर शराब पीकर घर आता था और अपनी पत्नी व बच्चों के साथ मारपीट करता था। पिछले दो दिन से वह मानसिक तनाव में भी था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप