संवाद सहयोगी, कुंडहित (जामताड़ा) : शुक्रवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित बालविकास कार्यालय के सभागार में सेविकाओं की मासिक बैठक हुई। बैठक में सेविकाओं को नियमित समय पर केंद्र खोलने व बंद करने का निर्देश दिया गया। कहा कि निरीक्षण के दौरान केंद्र बंद पाए जाने पर संबंधित केंद्र सेविका व सहायिका के खिलाफ कारवाई होगी। वहीं बच्चों का मध्याह्न भोजन व ग्रोथ चार्ट, कुपोषित बच्चे आदि बिदुओं पर चर्चा हुई। बैठक में आयुष चिकित्सक डॉ. समीर मंडल ने सेविकाओं को 10 फरवरी को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस सफल बनाने की अपील की।

डॉ. समीर मंडल ने कहा कि एक से 19 वर्ष के सभी बच्चों को कृमि मुक्ति के लिए एक-एक एल्बेंडाजोल गोली देना है। एक से पांच वर्ष आयु के बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्र में तथा छह से 19 वर्ष के आयु तक के बच्चों को विद्यालय में एक-एक एल्बेंडाजोल गोली देना है। दवा की गोली खिलाने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कृमि संक्रमण के मुख्य बिदुओं पर चर्चा करते हुए कहा कि कृमि कई कारणों से बच्चों के पेट में होता है और ऐसे में बच्चों को शारीरिक हानि के साथ बीमार भी हो जाता है। वहीं लेखा प्रबंधक सलीम खान ने सेविकाओ को जानकारी देते हुए कहा कृमि नियंत्रण की दवाई खाने के साथ-साथ संक्रमण रोकथाम के बारे में विस्तार से जानकारी दिया गया। मौके पर आयुष चिकित्सक डॉ. समीर मंडल, बीपीएम सलीम खान, प्रधान लिपिक शकुंतला हेम्ब्रम, महिला पर्यवेक्षिका बाले लीलावती हेम्ब्रम, एस्थेर मुर्मू, गीता देवी सहित काफी संख्या में सेविका उपस्थित थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस