जामताड़ा : करमाटांड़ थाना की पुलिस ने साइबर डीएसपी सुमित कुमार के नेतृत्व में जीयोजारी गांव में छोपमारी कर दो ठिकानों से पांच साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर शनिवार को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। उनके पास से छह मोबाइल व दस सिम कार्ड जब्त किया गया। पूछताछ में पुलिस को आरोपितों ने अपने अन्य सहयोगियों का नाम भी बताया है। इनमें नेपाल मंडल व सूरज मंडल पिता व पुत्र है। अन्य तीन में किशन मंडल, उमेश मंडल व तापस मंडल शामिल है। एक तरफ बाइक से करमाटांड़ थाना के प्रभारी मंगल कुजूर, साइबर थाना के इंस्पेक्टर सुबोध प्रसाद दो दूसरी तरफ से साइबर डीएसपी ने घेराबंदी की थी। नतीजतन आरोपितों का भागने का प्रयास नाकाम हो गया। मोबाइल भी नहीं छुपा पाए।

-जीयोजारी में पहली बार हुई छोपमारी : साइबर डीएसपी सुमित कुमार ने बताया कि जीयोजारी गांव में कतिपय युवक की साइबर अपराध में संलिप्तता की सूचना मिली थी। पुलिस गुप्त रूप से रैकी कर रही थी। उनके ठिकाने का पता नहीं चल रहा था। इसी बीच शुक्रवार दोपहर को सटीक सूचना मिली कि गांव में बांस के झुड़ व एक अन्य जगह अलग-अलग टोली में लोग जमा हैं और मोबाइल से दूसरे बैंक खाताधारकों को झांसा देकर उनका एटीएम कार्ड का ओटीपी समेत अन्य गोपनीय जानकारी खुद को बैंक अधिकारी बताकर ले रहे हैं। इसी सूचना पर छापेमारी की गई और पांचों को दबोचा गया। डीएसपी कुमार ने बताया कि गांव में साइबर अपराध नियंत्रण को यह पहली छापेमारी थी। गिरफ्तार आरोपितों ने अन्य सहयोगियों का नाम भी बताया है। पुलिस शीघ्र ही उनतक पहुंचेगी।

-पिता-पुत्र ने काफी ठगी की : पूछताछ में आरोपितों ने कई खुलासे किए हैं, लेकिन अनुसंधान बाधित होने की वजह से पुलिस कुछ विशेष नहीं बता रही है। पुलिस का मानना है क पिता व पुत्र लंबे अर्से से साइबर ठगी कर रहे थे लेकिन अन्य साइबर आरोपितों की तरह इन दोनों ने बड़ा-बड़ा मकान बनाने व संपत्ति का दिखावा नहीं किया है। इन लोगों ने अवैध कमाई कहां किस स्त्रोत में लगा रखी है, इसकी भी जांच की जाएगी। इस बीच थाना प्रभारी मंगल कुजूर ने बताया कि पिता व पुत्र नेपाल मंडल, सूरज मंडल समेत किशन, तापस व उमेश को शनिवार को जेल भेज दिया गया। उनसे जब्त मोबाइल व सिम की तकनीकी जांच में इस तथ्य से जुड़े काफी साक्ष्य मिले हैं। पिता व पुत्र गांव के स्कूल के समीप आम के पेड़ के नीचे बैठकर साइबर ठगी का प्रयास कर रहा था। जबकि अन्य तीन लोग गांव के पश्चिम तरफ तालाब के किनारे बांस के झुंड में साइबर ठगी की घटना को अंजाम दे रहा था। छापेमारी टीम में एएसआइ प्रभात कुमार, क्यूआरटी व थाना के जवान भी थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप