जामताड़ा : जल संरक्षण के मुहिम को व्यापक बनाने के लिए शैक्षणिक अंचल नारायणपुर के उत्क्रमित मध्य विद्यालय चिहुटिया, मध्य विद्यालय घाटी पांडेयडीह में गठित जल सेना के विद्यार्थियों के बीच निबंध लेखन व चित्रांकन प्रतियोगिता की गई। जल सेना के दर्जनों विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस दौरान विद्यार्थियों ने जल संरक्षण से जुड़े विभिन्न प्रकार के चित्र को अपनी कला के जरिए उकेरा। साथ ही निबंध में भी जलसंरक्षण की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। अलग-अलग चित्र उकेरा गया कि बर्बाद होते पानी को कैसे बचाना है। स्पष्ट किया कि पानी का एक बूंद का भी बहुत बड़ा महत्व है। इसके लिए अभी से ही हमें जल संरक्षण के कार्य को समाज तक पहुंचाना है।

विद्यार्थियों ने निबंध के माध्यम से देश में अब तक उभरे जल संकट को उजागर करने का प्रयास किया। जल संकट को कैसे रोका जाए,  इसके लिए भी निबंध में सुझाव व्यक्त किया। विद्यार्थियों ने यह बताने का प्रयास किया कि परिवार का एक-एक सदस्य यदि पानी की बर्बादी को रोक ले तो संकट का निदान काफी हद तक हो जाएगा। व्यर्थ में पानी को बर्बाद नहीं करें। बरसात के जल को गांव में रोकने का कार्य करें। जितनी पानी की आवश्यकता पड़े उतना ही पानी का इस्तेमाल किया करें। क्षेत्र के खाली पड़े भूभाग में पौधे लगाने जैसे कार्य करें तो जल संकट दूर करने का बहुत बड़ा संसाधन समाज बन सकता है।

इस बाबत शिक्षक लखीकांत यादव, सर्वेश राय, रामधन दुबे, दिनेश करमाली, गिरीश मुर्मू, विनोद कुमार महथा ने जल सेना के विद्यार्थियों से कहा कि पानी बचाना सिर्फ सरकार की जिम्मेवारी नहीं है, यह समाज की भी जिम्मेदारी है।

शिक्षकों ने कहा कि दैनिक जागरण ने सभी को निबंध लेखन व चित्रांकन के माध्यम से अपने आप को साबित करने का मौका दिया है। बेहतर तरीके से जल संरक्षण विषय पर निबंध लेखन व चित्र बना अपने विद्यालय का नाम रोशन करें। मौके पर उत्क्रमित मध्य विद्यालय चिहुटिया के जल सेना के सदस्य टुनटुन यादव, कलाम शेख, छोटू यादव, शेख जीशान, रेहान शेख, जाहिद शेख, शोएब शेख, धोनी यादव, सामी शेख, काशिफ रजा व मध्य विद्यालय घाटी पांडेयडी के ज्योति कुमारी, प्रिया कुमारी, सुमन कुमारी, छवि कुमारी, अनु कुमारी, सोनू कुमार सा, विपुल कुमार ओझा, जयप्रकाश कुमार, राजू राय, शुभम कुमार साह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप