जामताड़ा : झारखंड आंदोलनकारियों की उपेक्षा अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आंदोलनकारियों की बदौलत ही फर्श से अर्श पर पहुंचे लोग हमारी अहमियत को भूलकर सभी स्तर पर उपेक्षा कर रहे हैं। सोमवार को स्थानीय गांधी मैदान में आयोजित झारखंड आंदोलनकारी मोर्चा की बैठक को संबोधित करते हुए मोर्चा के जिला संयोजक नारायण मंडल ने उक्त बातें कही। बैठक की अध्यक्षता झामुमो के वरिष्ठ नेता अमनीकांत यादव ने की। मौके पर नारायण मंडल ने मोर्चा की ओर से झारखंड-वनांचल चिह्नितिकरण आयोग से मांग करते हुए कहा कि जेल जाने वाले अथवा नहीं जानेवाले आंदोलकारियों को चिह्नित कर तय प्रावधान के अनुसार सुविधा देना सुनिश्चित करें तथा आंदोलनकारियों के आवेदन को जांच कर जिला स्तर पर सम्मानित करें। मोर्चा नेता महादेव किस्कू ने कहा कि आंदोलनकारियों के बलिदान की बदौलत ही सरकार व प्रशासन है। इसलिए सरकार द्वारा जो भी योजनाएं संचालित हो रही है जिसे क्रियान्वयन से पूर्व आंदोलनकारियों के साथ राय मशविरा लेना होगा साथ ही 20 सूत्री क्रियान्वयन समिति की बैठक,अवसर विशेष पर आयोजित होने वाली पुलिस-पब्लिक की बैठक में भी आंदोलनकारियों की सहभागिता सुनिश्चित करने की मांग की। मौके पर भूजंग भूषण तिवारी,अनिल सोरेन,रंजीत राउत, जीतेन हांसदा,अनिल राणा,वैद्यनाथ हांसदा,रमापति भद्र आदि थे।

Posted By: Jagran