कुडंहित (जामताड़ा) : सोमवार को कुंडहित प्रखंड क्षेत्र के विक्रमपुर पंचायत अंतर्गत पश्चिम बंगाल से सटा बाघाशोला गांव के 80 वर्षीय नेत्रहीन महिला गौरी राय का आधार कार्ड बनाने के लिए जिला परियोजना पदाधिकारी राजीव कुमार के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम बाघाशोला गांव पहुंची। अधिकारी के गांव पहुंचने से गौरी के परिवार सहित ग्रामीणों में खुशी का ठिकाना नहीं था। 80 वर्षीय गौरी आधार कार्ड नहीं रहने के कारण सरकार के किसी भी कल्याणकारी योजना का लाभ नहीं ले पा रही थी। उसे अभी तक पेंशन, राशन कार्ड, पीएम आवास और न ही शौचालय का लाभ मिला है।

महिला के मुताबिक जब भी वह सरकारी लाभ लेने के लिए प्रशासन के पास पहुंचती है तब उनसे आधार कार्ड मांगा जाता है। बता दें कि वह इतनी कमजोर है कि आधार कार्ड बनाने के लिए प्रखंड मुख्यालय तक नहीं पहुंच सकती। नेत्रहीन के साथ-साथ उनकी कमर का नीचे का हिस्सा भी टूटा हुआ है। सोमवार को डीपीओ के साथ कुडंहित प्रखंड के प्रधान लिपिक, कंप्यूटर ऑपरेटर जय कुमार, संदीप बाउरी, पंचायत सचिव गांधी किस्कू आदि उपस्थित थे। जिला परियोजना पदाधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि उपायुक्त आदित्य कुमार के निर्देश पर गौरी का आधार कार्ड बनाया गया ताकि जल्द ही उसे सरकार की सभी सुविधाओं का लाभ मिल सके।

Posted By: Jagran