जमशेदपुर,जासं।  विश्व के सैन्य इतिहास में 1971 युद्ध का महत्वपूर्ण स्थान है, जहां पूर्वी पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों ने भारतीय सेना के समक्ष अपने घुटने टेकने पर मजबूर हो गए थे और पाकिस्तानी सेना का कमान करने वाले जनरल एकेजे नियाजी ने भारतीय सेना के कमांडिंग इन चीफ जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के बीच समझौता किया था। पूर्व सैनिक सेवा परिषद, पूर्वी सिंहभूम ने 1971 युद्ध के शहीदों एवं जांबाज़ सैनिकों के सम्मान में आर्मी कैंप सोनारी के पीटी ग्राउंड से विजय दौड़ का आयोजन किया।

कार्यक्रम का शुभारंभ भारत माता की प्रतिमा पर पुष्पांजलि के साथ किया गया। उसके बाद विजय दौड़ का फ्लैगऑफ सेना के प्रतिनिधि के रूप में नायब सूबेदार एके पांडेय व राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग संघ चालक अभय सामंत ने किया। इस मौके पर शहर की सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि के रूप में अरुण सिंह (हिंदू पीठ के अध्यक्ष), मनोज सिंह (भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य), राजीव कुमार सिंह (भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष), विजय तिवारी (भाजपा किसान मोर्चा के कोल्हान प्रभारी), विनोद राय (भाजपा के मानगो  मंडल अध्यक्ष), रवि प्रकाश सिंह (हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष), चिंटू सिंह (हिंदू उत्सव समिति के उपाध्यक्ष), अनिशा सिन्हा (भाजपा नेत्री, आदित्यपुर) व सचितानंद मिश्रा (समाजसेवी) शामिल थे। इस दौड़ में तीनों सेना के जांबाज सैनिकों का परिवार वं लौहनगरी जमशेदपुर के तमाम देशभक्त शामिल हुए।
ये हुए सम्मानित
 1971 युद्ध के नायक रहे हवलदार राजदेव सिंह, हवलदार रमेश सिंह, हवलदार चंद्रमा सिंह, हवलदार बलजीत सिंह, हवलदार मेघा सिंह व हवलदार सोनेलाल को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। 
विजय दौड़ 2020 के विजेता 
 (15 वर्ष से ऊपर के बच्चों एवं पुरुषों की श्रेणी में) 
अनूप कुमार यादव, एनआटी कैम्पस
आकाश कुमार सिंह, आदित्यपुर 
सचिन कुमार सिंह, आदित्यपुर
 जितेश कुमार सिंह, आदित्यपुर 
बृज गुप्ता, कदमा भाटिया बस्ती
 (महिलाओं की श्रेणी में)
सुनीता शर्मा, आदित्यपुर
रेखा चक्रवर्ती, आदित्यपुर     
पल्लवी शर्मा, आदित्यपुर 
नीतू कुमारी, काशीडीह
रंजना सिंह, गम्हरिया
(15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की श्रेणी में)
पल्लव प्रत्यूष, 10 
उज्जवल कृष्णा, 14
मृदुल, 13 
आयुष कुमार, 14 
अर्पित सिन्हा,12
अंशुमन, 14 (सांत्वना)
विशेष धावकों की सूची में (अभ्यस्त धावक)
 विकास कुमार 
समीर महतो
कृष्णा कुमार 
श्याम 
बबलू
इनका रहा योगदान
कार्यक्रम को सफल बनाने में पूर्व सैनिक सेवा परिषद के सुशील कुमार सिंह, राजीव रंजन, डा. कमल शुक्ला, बृजकिशोर सिंह, दिनेश सिंह, अमित कुमार, हरेंदु शर्मा, मनोज ठाकुर, अभय सिंह, मिथिलेश सिंह, रामजी प्रसाद, अशोक कुमार श्रीवास्तव, सतनाम सिंह, बलजीत पठसानी, प्रमोद कुमार, शिवशंकर चक्रवर्ती, सतीश कुमार सिंह, जावेद हुसैन, अजय कुमार सिंह, मनोज कुमार सिंह, रामजनम तिवारी, सुनील कुमार मिश्रा, रंजीत कुमार शर्मा, रजत डे, हंसराज सिंह, गणेश राव, संजय दुबे आदि का योगदान रहा, जबकि उद्घोषक उदय चंद्रवंशी, विषय प्रवेश प्रदेश उपाध्यक्ष सुशील कुमार सिंह व धन्यवाद ज्ञापन डा. कमल शुक्ला ने किया।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप