संवाद सूत्र, डुमरिया : प्रखंड के कांटाशोल मे केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा एवं राज्य के आदिवासी कल्याण मंत्री चंपई सोरेन ने 48 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का आधारशिला रखी। विद्यालय का निर्माण राष्ट्रीय परियोजना निर्माण निगम लिमिटेड (एनपीसीसी) के द्वारा होगी। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलित कर किया गया। अर्जुन मुंडा ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में शिक्षा का समान अधिकार के तहत जनजातीय क्षेत्रों मे भी गुणवत्ता पूर्ण संपूर्ण शिक्षा की परिकल्पना की यह मूर्त रूप है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की दूरदर्शी सोच को कैबिनेट की बैठक में पारित किया गया था, ताकि देश ही नहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी आदिवासी बच्चे अपनी कला एवं विशिष्टता का लोहा मनवा सकें। उन्होंने कहा कि यह विद्यालय पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों को सभी विधाओं मे निपुण बनाएगी। पूरे देश में सात सौ से ज्यादा विद्यालय पूरा होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि एकलव्य विद्यालय को जम्मू कश्मीर के लेह और लद्दाख तक और देश की सीमा असम और सिक्किम तक पहुंचाया जाएगा। अर्जुन मुंडा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओलिंपिक के लिए खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया। नि:संदेह खिलाड़ियों का मनोबल ऊंचा हुआ और इसे देखकर बच्चों के मन मे योजना उत्पन्न होगी। उन्होंने कहा कि ग्राम सभा सर्वोपरि है। वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों को पट्टा ग्राम सभा देगी। उन्होंने रोजगार उन्मुखीकरण के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों को सशक्त बनाने के निर्देश दिए। कहा, मंत्रालय की ओर से इस कार्य के लिए ग्रामीण विकास विभाग को नोडल बनाया गया है। तालाब में झिनुक की खेती कर महिला समूह लाखों रुपये कमा सकती हैं। राज्य के मंत्री चंपई सोरेन ने हेमंत सोरेन सरकार की उपलब्धियों को लोगों के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि झारखंड आंदोलन मे डुमरिया क्षेत्र का अहम योगदान रहा है। सांसद विद्युत वरण महतो ने कहा कि इस क्षेत्र के लिए एकलव्य विद्यालय शिक्षा के साथ-साथ समाज के विकास का अहम हिस्सा साबित होगी। राज्य मे सीओ व बीडीओ की कमी है। आने वाले दिनों में इस विद्यालय से पढ़कर यहां के बच्चे अधिकारी बनेंगे। सांसद ने कहा कि 461 विद्यालय बन रहे हैं। उन्होंने एनपीसीसी से कहा कि विद्यालय का निर्माण गुणवत्ता पूर्ण कराएं। जिसकी निगरानी राज्य सरकार द्वारा गठित समिति करेगी। विधायक संजीव सरदार ने हेमंत सोरेन सरकार की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान डुमरिया प्रखंड में विकास का बेहतर कार्य हुआ है। विद्यालय मे 480 लड़के एवं लड़कियां करेंगे पढ़ाई : योजना के संबंध मे एकलव्य आवासीय आदर्श विद्यालय के आयुक्त असित गोपाल ने बताया कि विद्यालय मे 480 लड़के एवं लड़कियां पढ़ाई करेंगे। जिनका पठन पाठन,भोजन,वस्त्र आदि निशुल्क प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया आ 367 विद्यालय का निर्माण कार्य चल रहा है और प्रत्येक प्रखंडों मे 452 नये विद्यालय खुलेंगे। खासकर सुदूरवर्ती व नक्सलवाद क्षेत्रों के लिए 48 करोड़ रुपये तक की लागत से विद्यालय का निर्माण होगा।

Edited By: Jagran