जमशेदपुर। टोक्यो ओलंपिक में भारत की सबसे हॉट जोड़ी दीपिका कुमारी व अतनु दास भाग ले रहे हैं। तीरंदाजी की इस जोड़ी की चर्चा आज चहुंओर हो रही है। जमशेदपुर स्थित टाटा तीरंदाजी अकादमी से पास आउट हुए अतनु और दीपिका तीरंदाजी की दुनिया में रोज नया इतिहास रच रहे हैं। पेरिस ओलंपिक की मिक्सड डबल्स स्पर्धा में इस जोड़ी ने स्वर्ण पदक जीता था। लेकिन उन्हें टोक्यो ओलंपिक में साथ खेलने का मौका नहीं मिला, क्योंकि रैंकिंग राउंड में प्रवीण जाधव का प्रदर्शन अतनु दास से बेहतर था।

अतनु दास कहते हैं, दीपिका को किसी अंतरराष्ट्रीय मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए कभी-कभी मैं मानसिक रूप से उदास हो जाता है। हालांकि मैं कड़ी मेहनत करता हूं और अपने दिल से पूछता हूं, 'मेरी बारी कब आएगी?' कभी-कभी यह बात मुझे कचोटती है कि मैं उसके स्तर की बराबरी तक नहीं कर पा रहा हूं। ऐसे समय में दीपिका ही है, जो संबल बनकर खड़ी रहती है। मुझे ऐसी परिस्थिति में देखकर वह उदास नहीं होती है। उसे तो गुस्सा आ जाता है, जब भी वह मुझे परेशान देखती है। वह हमेशा कहती है, 'मेरा समय पहले आया है, तेरा बाद में आएगा... तुम बस कड़ी मेहनत करते रहो।' अतनु यह भी मानते हैं, मेरे इस बदलाव का श्रेय की दीपिका सबसे ज्यादा हकदार है। हमारे प्रदर्शन में अगर सुधार हुआ है, तो उसका एक मात्र कारण दीपिका है। वह मेरे साथ रीढ़ की हड्डी की तरह खड़ी रही और हमेशा बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया।

महज 10 साल की उम्र में दीपिका ने पकड़ी थी तीर कमान

पिछले आठ वर्षों से दीपिका विश्व तीरंदाजी फलक पर एक स्थापित नाम बन चुकी है। दीपिका ने महज दस साल की आयु में तीरंदाजी की दुनिया में कदम रखा और महज 15 साल की उम्र में 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों (CWG) में दो स्वर्ण पदक (टीम और व्यक्तिगत स्पर्धा) हासिल कर सभी को चौका दिया। 2019 एशियाई चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता अतनु दास अपनी पत्नी दीपिका के अपने लक्ष्य के प्रति कभी न हारने वाले रवैये से भी काफी प्रेरित हैं।

'ठान लिया, तो करेंगे ही'

अतनु कहते हैं, मैं दीपिका उसके 'ठान लिया, तो करेंगे ही' रवैया से काफी कुछ सीखने की कोशिश करता हूं। वह जिद करती है और दुनिया जीतकर ही दम लेती है। यहां बताते चले कि टाटा तीरंदाजी अकादमी में दीपिका व अतनु के बीच कभी नहीं बनती थी। आठ साल तक दोनों के बीच कभी बात नहीं हुई। दोनों 2008 बैच में टाटा तीरंदाजी अकादमी में साथ थे। लेकिन समय का पहिया ऐसा घूमा कि दीपिका ने अतनु को दिल दे दिया।

Edited By: Jitendra Singh