मुसाबनी (पूर्वी सिंहभूम), मुरारी प्रसाद सिंह। Positive India देश के हालात जब प्रतिकूल हों तो हर आम ओ खास की जिम्‍मेदारी बनती है कि इसे अनुकूल बनाने में अपने स्‍तर से जो बन पड़े, करें। वैश्विक संकट बनकर सामने खड़े कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन के बीच जब हर कोई अपने स्‍तर से जो बन पा रहा है, कर रहा है।

मुसाबनी बासंती पूजा कमेटी के दर्जनों युवा संकट की घड़ी में गरीबों और जरूरतमंदों के लिए जिस तरह मसीहा बन गए हैं, वह अनुकरणीय है। यह सिलसिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद ही शुरू हो गया था। मुसाबनी में सबसे पहले इन युवाओं ने मदद करने की ठानी। सामाजिक दूरी बरकरार रखने के लिए बासंती पूजा को सादगी से निपटाया। मूर्ति व पंडाल निर्माण रोक दिया। युवाओं ने तय किया कि गरीब परिवारों को संकट की इस घड़ी में मदद पहुंचाने का जिम्मा उठाएंगे। उन्होंने सूझबूझ के साथ योजना बनाई। चीजें जुटाईं और मदद का पैकेट तैयार कर चुपके से दरवाजा खट खटाकर जो घर में मिला, उसको सौंपकर आगे बढ़ गए।

 600 घरों में पहुंचा चुके हैं राशन 

बासंती  पूजा कमेटी के महासचिव सरदार राजू सिंह, जगदीश प्रसाद आदि के नेतृत्व में अब हर दिन गांवों में 150 पैकेट पहुंचाते हैं। युवाओं की टीम के इस कदम की जमकर सराहना हो रही है। कमेटी के लोगों ने पीएम नरेंद्र मोदी की जरूरतमंदों के लिए अपील से प्रभावित हुए। आपस में सहमति बनाकर सोशल डिस्टेंस मेंटेन करते हुए बैठक की और योजना तैयार की गई। ऐसे गांव व लोगों की लिस्ट को फाइनल किया गया, जो प्रतिदिन मजदूरी व मांग करके अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं। गांव व लोगों की लिस्ट को फाइनल किया गया।

होलसेल में खरीदा 50 क्विंटल चावल

कमेटी द्वारा होलसेल में 50 क्विंटल चावल मंगाया गया। 5 किलो का एक -एक राशन के पैकेट बनाए गए। हर पैकेट में एक 1 किलो आलू व अन्य सामग्री डाले गए। पैकेट में चावल,आलू,नमक आदि मिलने पर बुझ चुके चूल्हे जलने लगे। बासंती पूजा कमेटी  के युवाओं के इस कदम की क्षेत्र में तारीफ हो रही है। दूसरे लोगों ने भी इन कमेटी से प्रेरणा लेकर  क्षेत्र में मदद के हाथ बढ़ाने लगे हैं ।

मिलजुलकर इन गांवों में पहुंचाया राशन 

सरदार राजू सिंह बताते है कि लॉकडाउन की वजह से परेशानी तो है। हमने सोचा कि इसे अपने स्तर पर कुछ कम किया जाए। उसके बाद हमने ऐसे घरों की तलाश की, जिनको राशन की बहुत जरूरत थी। युवाओं की टीम अब तक 20 से अधिक गांव में राशन पहुंचा चुकी है। यह अभियान अनवरत जारी है। टीम अब भी जरूरतमंद घरों को राशन पहुंचा रही है। कमेटी द्वारा अंबेडकर कॉलोनी, नेत्रा सबर कॉलोनी, बलियाडिपा सबर बस्ती, सोनागाड़ा धीबर व सबर बस्ती,महालीपाड़ा, लाइनडीह सबर टोला,मेड़िया,लॉकेशरा सबर टोला, टेटा बादिया,केला बागान, माहुल बेरा मुस्लिम बस्तीटुमांगकोचा बिरहोर बस्ती सबर टोला अन्ना नगर सोहदा लड़काडीह तेरंगा कर्मकार टोला, बांठुडेरा, न्यू कॉलोनी,चापड़ी, शांति नगर,देवली धीबर टोला,मेरी टोला ,मोहनडेरा, तिरिलडीह आदि गांव में मदद के पैकेट अब तक पहुंचाए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि मुसाबनी थाना को भी 1 क्विंटल चावल कमेटी द्वारा जरूरतमंदों के बीच विचरण करने के लिए दिया गया है।

ये हैं बासंती  पूजा कमेटी के कोरोना फाइटर

पूजा कमेटी के युवा हमेशा जरूरतमंदों की सहायता के लिए तैयार रहते हैं। फोन पर सूचना मिलते ही इनकी टोली मदद का पैकेट लेकर गांव की ओर कूच कर जाती है। इनमें मुख्यरूप से बासंती पूजा कमेटी के महासचिव सरदार राजू सिंह, अजित महाराज ,जगदीश प्रसाद, सोनू श्रीवास्तव,  संदीप पटनायक, उत्तम गिरी, ए एन कर ,मनोज दास,सुजीत,सचिन, राजा, अजय शर्मा, राज कुमार, राधे, छोटू, गौतम , मोनी, संजय धल, पुटे, प्रवीण,प्रसन्नजीत आदि कोरोना फाइटर की भूमिका निभा रहे हैं।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस