जमशेदपुर : स्वच्छता अभियान के तहत देशभर में शौचालय का निर्माण किया जा रहा है लेकिन, इसके नियम-कानून से अधिकांश लोग अवगत नहीं है, जो आगे चलकर उनको नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में आपको होशियार होने की जरूरत है। थोड़ी सी लापरवाही महंगा पड़ सकती है।

बाथरूम में होते हैं कई खतरनाक वायरस

स्वास्थ्य विशेषज्ञ अनु सिन्हा के अनुसार आपको जानकर हैरानी होगी कि शौचालय में छह तरह के वायरस छिपे रहते हैं। इसमें स्ट्रेप्टोकोकस, स्टेफिलोकोकस, ई-कोलाई, शिगेला बैक्टीरिया से लेकर हेपेटाइटिस-ए वायरस, सामान्य सर्दी-खांसी वाला वायरस शामिल है।

यह वायरस आपके आंत से लेकर फेफड़े तक को डैमेज करते हैं। इन सभी वायरस के पनपने का मुख्य कारण गंदगी है। दरअसल, शौचालय में गंदगी की वजह से ये सारे वायरस एक्टिव हो जाते हैं, जिससे तरह-तरह की बीमारी फैलने का खतरा बना रहता है।

फ्लशिंग के दौरान फैल सकता है कई तरह के संक्रमण

अधिकांश लोगों को सही ढंग से फ्लशिंग करने भी नहीं आता। दरअसल, जब हम टॉयलेट के फ्लश करते हैं तो पानी की छोटी-छोटी बूंदें हवा में छिड़कती हैं, जो कई संक्रमण फैला सकती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि फ्लशिंग के दौरान टॉयलेट सीट को बंद कर लेना चाहिए।

टूथब्रश को बाथरूम केबिनेट में स्टोर करना

अधिकांश लोगों को टूथब्रश रखने के तरीका भी नहीं आता है। जर्नल ऑफ डेंटल हाइजीन साइंस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, टूथब्रश को बाथरूम केबिनेट में स्टोर करने से आपके टूथब्रश पर संक्रामक

बैक्टीरिया पनपने के लिए अनुकूल वातावरण बन जाता है। केबिनेट के अंदर टूथब्रश रखने से यह काफी देर तक गीला रहता है।

बाथरूम में गीला टॉवेल लटकाना

बाथरूम में कभी भी गीला टॉवेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जो लोग बाथरूम में हैंगिग टॉवेल का इस्तेमाल करते हैं उनमें इंफेक्शन का खतरा अधिक रहता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, बाथरूम में हुक पर गीला टॉवेल टांगना स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। दरअसल, गीला और नम तौलिया बाथरूम में घूमने वाले संक्रामक बैक्टीरिया को पकड़ लेता है, जो बैक्टीरिया, मोल्ड, वायरस व यीस्ट के लिए प्रजनन स्थल है। शरीर पोंछने के बाद तौलिया को सुखा लेना चाहिए।

एक्जॉस्ट फैन चालू न करना

बाथरूम जाते समय अधिकांश लोग एक्जॉस्ट फैन चालू नहीं करते। इससे बैक्टीरिया और कीटाणु बाहर नहीं निकल पाते और वह लोगों को नुकसान पहुंचाता है। बैक्टीरिया से दुर्गंध पैदा होने के साथ-साथ यह कई संक्रमणों का कारण बन सकते हैं।

बाथरूम में मोबाइल फोन साथ ले जाना

कई लोगों की आदत होती है कि वे बाथरूम में मोबाइल फोन लेकर जाते हैं लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। एक रिपोर्ट के अनुसार, जब आप अपने मोबाइल फोन को बाथरूम काउंटर या अलमारी में रखते हैं तो इस पर संक्रामक बैक्टीरिया चिपक जाते हैं। इसके बाद जब आप मोबाइल को बाहर लेकर जाते और उसका इस्तेमाल करते हैं तो उसका असर सेहत पर पड़ता है। इस दौरान कई तरह के संक्रमण होने का खतरा बना रहता है।

शॉवर हेड की सफाई न करना

शॉवर लेने समय भी विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। शॉवरहेड में नम और काले छेद बैक्टीरिया को पनपने का मौका देते हैं। जब पानी नीचे जाता है तो यही बैक्टीरिया स्नान करने वाले व्यक्ति के संपर्क में आ सकते हैं। इसलिए हर पंद्रह दिन पर शॉवर हेड्स को साफ करने चाहिए।

बदल डालें बाथरूम की ये आदतें

टॉयलेट के पीछे सफाई न करने से भी संक्रमण फैल सकता है। इसलिए इस आदत को जल्द बदल डालें।

टॉयलेट ब्रश को सूखने नहीं देने से भी आप बीमार हो सकते हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, टॉयलेट सीट पर ज्यादा देर तक बैठे रहने से बचना चाहिए। इससे हैमोरॉइड्स की स्थिति बन सकती है। बाथरूम में गीले पोंछे, कंडोम, बैंड एड्स, नैपकिन जैसी चीजें नहीं फेंकनी चाहिए।

Edited By: Jitendra Singh