संसू, धालभूमगढ़ : कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राएं गुरुवार को गलत सूचना का विरोध करते हुए विद्यालय परिसर में जमीन पर बैठी रहीं। अभिभावक, एसएमसी सदस्य व वार्डेन के समझाने पर भी छात्राएं जमीन से नहीं उठीं। सूचना मिलने पर विधायक रामदास सोरेन विद्यालय पहुंचे और वार्डेन समेत छात्राओं से मुलाकात की। विधायक छात्राओं की समस्याओं से अवगत हुए। विधायक को बाल संसद की प्रधानमंत्री, अनुशासन मंत्री, शिक्षा मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, खेल मंत्री समेत बाल संसद के मंत्री व छात्राओं ने एक स्वर में कहा कि विद्यालय में किसी प्रकार का काम शिक्षिकाओं के दवाब में नहीं किया जाता है। विद्यालय में पठन-पाठन के साथ-साथ साफ-सफाई व झाडू-पोछा समेत अन्य प्रकार के कार्य के लिए बाल संसद के माध्यम से नियमानुसार छात्राओं की लिस्ट तैयार की जाती है। लिस्ट के आधार पर छात्राएं काम करती हैं। विद्यालय हम सभी के लिए घर है। घर की साफ-सफाई को लेकर अन्य सभी कार्य करना है। इस कार्य को लेकर किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। विधायक से छात्राओं ने कहा कि क्या हम सभी अपने घर जाने के बाद परिवार के बीच काम नहीं करेंगे। विधायक ने छात्राओं की बात सुनने के बाद कहा कि आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आज के बाद किसी प्रकार की समस्या नहीं आएगी। पठन-पाठन के साथ साफ-सफाई भी जरूरी है। विधायक ने कहा कि इस प्रकार का अनुचित बयानबाजी या शिकायत करना गलत है। उन्होंने वार्डेन को निर्देश दिया कि शाम 4 बजे के बाद किसी को अंदर आने की अनुमति न दी जाए। वार्डेन की अनुमति के बाद ही विद्यालय के अंदर कोई भी व्यक्ति प्रवेश करेगा। वार्डेन से कहा कि निश्चिंत व निर्भिक होकर काम करें। उनकी कोई गलती नहीं है। छात्राएं अच्ठी तरह से पढ़ाई करें। विधायक आपके साथ हैं। उन्होंने विद्यालय में गार्ड रूम बनाने की मांग को स्वीकार किया। छात्राओं ने विधायक से मैदान समतलीकरण कराने की मांग की। छात्राओं की मांग पर विधायक ने कहा कि जल्द ही समस्या का समाधान किया जाएगा।

Edited By: Jagran