जासं, जमशेदपुर : तूफान जवाद को लेकर दक्षिण पूर्व रेलवे एलर्ट मोड में है। तूफान के आने के पूर्व ही जोन से शुक्रवार को दस ट्रेनों को रद करने का आदेश जारी कर दिया गया है। गुरूवार को रेलवे ने जोन से गुजरने वाली 26 ट्रेनों को रद करने का आदेश जारी किया था। ट्रेनों के रद रहने के दौरान यात्रियों की सुविधा के लिए चक्रधरपुर मंडल के टाटानगर स्टेशन पर हेल्प डेस्क खोला गया है। हालांकि तूफान की सूचना मिलते ही कई यात्रियों ने टिकट कैंसिल कर अपनी यात्रा रद कर ली है।

अप में 4 व 5 दिसंबर को चार एक्सप्रेस ट्रेनें तो वही डाउन में 4 से 7 दिसंबर तक आधा दर्जन ट्रेनें रद रहेंगी। वहीं गुरूवार को जारी आदेश के अनुसार डाउन पुरूषोत्तम व उत्कल एक्सप्रेस शनिवार सुबह टाटानगर स्टेशन नहीं आएगी इसके अलावा अप निलांचल एक्सप्रेस भी रद रहेगी।

रद ट्रेनें अप में

22642 : शालीमार- तिरुवनंतपुरम एक्सप्रेस 5 दिसंबर

12663 : हावड़ा - तिरुचिरापल्ली एक्सप्रेस 5 दिसंबर

12073 : हावड़ा - भुवनेश्वर एक्सप्रेस 4 दिसंबर

07029 : अगरतल्ला - सिकंदराबाद स्पेशल 3 दिसंबर

रद ट्रेनें डाउन में

18106 : पुरी - राउरकेला एक्सप्रेस 5 दिसंबर

22818 : मैसूर - हावड़ा एक्सप्रेस 6 दिसंबर

22808 : चेन्नई - संतरागाछी एक्सप्रेस 5 दिसंबर

12890 : यशवंतपुर - टाटा एक्सप्रेस 6 दिसंबर

18638 : बैंगलुरू - हटिया एक्सप्रेस 7 दिसंबर

12509 : बैंगलुरू - गुहाटी एक्सप्रेस 3 दिसंबर

टाटानगर स्टेशन पर खुला हेल्प डेस्क

जवाद तुफान से हाने वाली परेशानी से यात्रियों को निजात दिलाने के लिए टाटानगर स्टेशन पर हेल्प डेस्क खोला गया है। वहीं शुक्रवार को टाटानगर स्टेशन से खुलने वाली ट्रेन टाटा-यशवंतपुर रद रही। इसके अलावा नईदिल्ली से पुरी के लिए खुलने वाली पुरूषोत्तम एक्सप्रेस नईदिल्ली स्टेशन से नहीं खुली यह ट्रेन शनिवार को टाटानगर स्टेशन नहीं आएगी।

पुरी-नईदिल्ली पुरूषोत्तम एक्सप्रेस शनिवार को पुरी से रद रहेगी

आनंदविहार-पुरी एक्सप्रेस शनिवार को आनंदविहार से रद रहेगी। योग नगरी हृषिकेश-पुरी शुक्रवार को हृषिकेश से नहीं खुली। शनिवार को पुरी-हृषिकेश एक्सप्रेस रद रहेगी। यात्रियों की सुविधा के लिए टाटानगर स्टेशन के हेल्प डेस्क् पर बोर्ड लगा दिया गया है। ट्रेनों के रद रहने के कारण टिकट कैंसिल कराने के लिए टाटानगर स्टेशन के आरक्षण केंद्र पर भारी भीड़ जुटी रही। यात्रियों ने लंबी कतार में लगकर अपने टिकट कैंसिल करवाया। रेलवे के अधिकारी के अनुसार ट्रेन रद रहने से रेलवे को लाखों रुपये का नुक्सान हुआ है।

Edited By: Rakesh Ranjan