संवाद सूत्र, मुसाबनी : अंचल के विभिन्न सरकारी बैंकों मे पैसे निकालने के लिए भीड़ उमड़ रही है। बैंक शाखाओं के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग तार तार हो रही है। बैंक में ग्राहकों की यह भीड़ जनधन, मनरेगा मजदूर और विभिन्न पेंशन योजनाओं के लाभार्थियों की है, जो अपने खाते में सरकार की ओर से भेजी गई सहायता राशि निकालने के लिए पहुंच रहे हैं। बैंक ऑफ इंडिया शाखा में सुबह 7.30 बजे से ही लोगों की लंबी कतार लगने लगी थी। इससे सोशल डिस्टेंस पूरी तरह ध्वस्त होते नजर आया। यही स्थिति झारखंड स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक में दिखी। ऊपर से नीचे तक ग्राहकों की भीड़ से कर्मचारी परेशान नजर आए। यहां भी सोशल डिस्टेंस का तनिक भी ध्यान नहीं रखा गया। सुरदा के यूनियन बैंक में शाखा के बाहर ग्राहकों की भीड़ लगने की सूचना पाकर मुसाबनी थाना प्रभारी संजीव कुमार झा ने मौके पर पहुंचकर ग्राहकों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने को चेताया तब जाकर लोगों शारीरिक दूरी बनाई। खाते से पैसा निकालने के लिए पहुंचे लोगों में से अधिकतर को यह भी नहीं पता कि उनके खाते में कितना पैसा आया है। शाखा प्रबंधक ने कहा कि अंकों के हिसाब से खाते से पैसे निकालने की तिथियों का निर्धारण किया गया है। लेकिन खाता धारी बिना जानकारी लिए हुए भीड़ लगा रहे हैं।

सुरदा माइंस की लीज अवधि समाप्त

हिदुस्तान कॉपर लिमिटेड इंडियन कॉपर कांप्लेक्स की सुरदा माइंस की लीज अवधि बीते 31 मार्च को समाप्त हो जाने से खनन एवं उत्पादन संबंधी कार्य 1 अप्रैल से अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। लीज अवधि विस्तार समय पर नहीं होने के कारण नियमानुसार सुरदा खान एवं खनन संबंधी सभी कार्य बंद किए जाने की सूचना नोटिस बोर्ड पर चस्पा की गई है। लीज अवधि के विस्तारीकरण की अनुमति प्राप्त होने की प्रक्रिया जारी है। लीज प्राप्ति के पश्चात ही सुरदा माइंस और इसके प्रतिष्ठानों में खनन एवं उत्पादन का कार्य शुरू किया जा सकेगा। 1 अप्रैल से सुरक्षा के लिए सुरदा माइंस से सिर्फ पानी निकासी का कार्य किया जा रहा है। माइंस से पानी निकासी का कार्य आवश्यक न्यूनतम मजदूरों के द्वारा संपन्न कराया जा रहा है। लॉक डाउन समाप्त होने अवधि तक यदि लीज अवधि नहीं बढ़ी तो माइंस में काम शुरू होने में और विलंब हो सकता है। जिससे करीब 13 सौ मजदूरों की रोजी-रोटी प्रभावित होने की संभावना है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस