जमशेदपुर, जासं।  झारखंड के पूर्वी स‍िंंहभूम ज‍िले के ग्रामीण इलाके की इस बेटी पर सबों को नाज है। बहरागोड़ा की नन्‍हीं बिटिया ने उंची उड़ान भरी। भारत के 10 राज्यों की प्लान इंडिया की गर्ल चेंजमेकर्स ने इंटरनेशनल डे ऑफ द गर्ल चाइल्ड (आइडीजी) के मौके पर नई दिल्ली में 22 राजनयिक मिशनों के राजदूतों और उच्चायुक्तों की भूमिका निभाई। झारखंड के कई जिलों में लड़कियों ने महत्वपूर्ण ग्राम पंचायतों और सरकारी पदों को भी संभाला। 

बहरागोड़ा ब्लॉक की सारथी ने नई दिल्ली में कनाडा उच्चायोग का काम संभाला। सारथी ने सक्रिय रूप से भारत में कनाडा के उच्चायुक्त के पद पर काम किया और एक दिन के लिए अपनी भूमिका निभाई। बैठकों की अध्यक्षता की और मुख्य कर्मचारियों से मिलीं। सारथी सात भाई-बहनों में से एक हैं जिन्हें उनकी मां ने अकेले पाला है। उन्होंने कम उम्र में शिक्षा की ताकत को समझा और अपने स्कूल की फीस का पैसा जमा करने के लिए अपनी मां के साथ खेतों में मजदूर के रूप में काम किया। सारथी यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत करती हैं कि उनकी तरह सभी लड़कियों को पढऩे का मौका मिले। वह बच्चों, युवाओं और उनके परिवारों की काउंसलिंग करती है ताकि बच्चे विशेषकर लड़कियां पढ़ाई जारी रखें और उसे पूरा करें। दूतावास में अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैंं कक्षाओं में डिजिटल और सीखने के मजेदार तरीकों की शुरुआत करना चाहती हूं ताकि लड़कियां स्कूल आने के लिए प्रेरित हों।

60 देशों में टेकओवर

दूतावास के टेकओवर के अलावा झारखंड की लगभग 26 प्लान इंडिया गर्ल चेंजमेकर्स ने अपने संबंधित शहरों में महत्वपूर्ण ग्राम पंचायत में पद संभाले। दुनियाभर में  टेकओवर्स 60 देशों में आयोजित किया गया जिसमें 1000 से अधिक लड़कियों ने भाग लिया। लड़कियों ने विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर काम किया और भेदभाव, शोषण और असमानता के खिलाफ अपनी राय रखी। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस