पंकज मिश्रा, चाकुलिया: कहा जाता है कि अगर एक लड़का पढ़ता है तो तो एक परिवार आगे बढ़ता है। वहीं एक लड़की यदि शिक्षित होती है तो दो परिवार आगे बढ़ते हैं। इसी को देखते हुए देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसा अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरू किया था। इसी अभियान को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं समाजसेवी रविंद्र नाथ झुनझुनवाला उर्फ रवि झुनझुनवाला। रवि धार्मिक अनुष्ठानों में गहरी रूचि रखने वाले चाकुलिया के दिवंगत समाजसेवी स्व प्रभुदयाल झुनझुनवाला के पुत्र हैं।

फिलहाल वे जमशेदपुर में रहकर अपना कारोबार करते हैं। लेकिन जन्मभूमि चाकुलिया से उनका लगाव कम नहीं हुआ है। यही कारण है कि उन्होंने स्थानीय शांति देवी सरस्वती शिशु विद्या मंदिर की 10 निर्धन छात्राओं को पढ़ाने का बीड़ा उठाया है। शुक्रवार को विद्यालय परिसर में आयोजित मातृ सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे झुनझुनवाला ने 10 बालिकाओं को प्रवेश से दसवीं कक्षा तक पढ़ाने का पूरा खर्च उठाने की घोषणा की। विद्यालय परिवार की ओर से प्रधानाचार्य ने उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रधानाचार्य कमलकांत प्रमाणिक ने बताया कि निर्धन परिवार की जिन 10 बालिकाओं को झुनझुनवाला पढ़ाएंगे, उनका चयन कर लिया गया है। श्री झुनझुनवाला ने उनकी स्कूल फीस, कॉपी, किताब, यूनिफॉर्म समेत पढ़ाई का सारा खर्च देने की बात कही है। विद्यालय परिवार एवं छात्राओं के अभिभावकों ने रवि झुनझुनवाला के इस कदम की सराहना की है।

Edited By: Rakesh Ranjan