जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटानगर स्टेशन के बुकिंग काउंटर में प्रतिदिन हजारों का खेल- शीर्षक से खबर छपने के बाद बुकिंग काउंटर में गुरुवार को हड़कंप मचा रहा। यात्रियों से ठगी करने वाले बुकिंग क्लर्क ने गुरुवार को यात्रियों के सही कीमत पर टिकट दिया।

सीनियर डीसीएम मनीष कुमार पाठक के निर्देश के बाद सीआइ एके सिंह ने बुकिंग काउंटर में जांच की। इस दौरान प्रिंटर का हेड खराब होने की बात सामने आई और रिबन की इंक खत्म होना बताया गया। जिसके बाद एक प्रिंटर का रिबन बदल दिया गया और दूसरे के हेड की मरम्मत के निर्देश दिए गए हैं।

दूसरी ओर यात्रियों से ओवर चार्जिग की जांच चल रही है। हालांकि गुरुवार को जिस काउंटर से टिकट निकलता था उसके बुकिंग क्लर्क से पूछताछ की गई है। मामले की छानबीन कर इसकी रिपोर्ट सीनियर डीसीएम मनीष कुमार पाठक को जल्द ही भेजा जाएगा।

यहां बता दें कि छपरा निवासी शैलेंद्र कुमार को टाटा से अंबाला जाना था। जिसके लिए उन्होंने टाटानगर टिकट बुकिंग काउंटर से एक जनरल टिकट टाटा से अंबाला के लिए बुधवार को खरीदा था। टाटा से अंबाला तक जनरल टिकट का किराया 345 रुपये है, लेकिन बुकिंग क्लर्क ने 480 रुपये उक्त टिकट के शैलेंद्र कुमार से वसूल लिए। चूंकि प्रिंटर से निकलने वाला टिकट का प्रिंट हलका था इस कारण टिकट की सही कीमत नहीं दिख रही थी।

------

मुझे टाटा से अंबाला जाना था। जिसके लिए मैने बुकिंग काउंटर से एक जनरल टिकट टाटा से अंबाला के लिए लिया और बुकिंग क्लर्क को पांच सौ रुपये का नोट दिया। बुकिंग क्लर्क ने मुझे सिर्फ 20 रुपये ही वापस किए। जब मुझे लगा कि टिकट की कीमत मुझसे अधिक ली गई है तो मैं शिकायत करने गया, लेकिन मेरी किसी ने नहीं सुनी।

-शैलेंद्र कुमार, यात्री, छपरा निवासी ।

--------

टाटानगर स्टेशन में 17 को भूख हड़ताल

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटानगर स्टेशन के टिकट बुकिंग काउंटर पर गरीब जनता को अवैध रुप से तय दाम से ज्यादा रुपये टिकट पर वसूलने और स्टाल कर्मचारियों द्वारा भी तय कीमत से ज्यादा रकम वसूलने के मामले को लेकर भूख हड़ताल पर बैठने का निर्णय सामाजिक और आरटीआई कार्यकत्र्ता कमलेश कुमार ने लिया है। कमलेश कुमार ने बताया कि बुकिंग क्लर्क की शिकायत करने के बाद भी रेल प्रशासन द्वारा लीपा -पोती कर कर दिया जाता है। 17 जून को स्टेशन निदेशक टाटानगर के कार्यालय के समक्ष सुबह नौ से शाम छह बजे तक भूख हड़ताल पर कमलेश कुमार बैठेंगे।

Posted By: Jagran