जमशेदपुर, अमित तिवारी।  विदेश और  दूसरे प्रदेशों से आए  हुए लोगों को अब जमशेदपुर के कदमा में ठहराया जा रहा है। इसके लिए कदमा थाना के बगल में स्थित  एक चार मंजिला फ्लैट को खाली कराया गया है। उसमें अबतक 40 लोगों को क्वारंटाइन कर रखा गया है। ये सभी बाहर से आए हुए लोग हैं, जो प्रशासन को सूचना दिए बगैर अपने घरों में ही थे।

गांव के मुखिया सहित अन्य लोगों के माध्यम से जब पुलिस को सूचना मिली तो सभी को उनको घरों से निकालकर लाया गया है। जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी का नमूना लेकर जांच के लिए महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब में भेज रही है। अबतक 19 लोगों का नमूना लिया गया है। वहीं मंगलवार को जिलेभर से 50 और संदिग्ध मरीजों को लाने की बात कही जा रही है। उनको अगले 14 दिनों तक क्‍वारंटाइन  रखा जाएगा। अगर, जांच में किसी को कोरोना पॉजिटिव निकलता है तो उनका इलाज टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच) या फिर उमा हॉस्पिटल में कराया जाएगा।

लोगों में भय का महौल

क्वारंटाइन में ठहरे हुए लोगों से जब दैनिक जागरण की टीम ने पूछा कि आप लोग क्यों जांच न कराकर घरों में ही छुपे हुए थे, पुलिस आप लोगों को पकड़कर क्वारंटाइन में ला रही है। इसपर लोगों का कहना था कि मैं चोर नहीं हूं लेकिन कोरोना से डर लगता है साहब। अगर बीमारी की पुष्टि हो गई तो पूरे गांव के लोग मुझे निकाल देंगे। समाज से बहिष्‍कृत  कर देंगे। जिसके कारण वह जांच कराने को आगे नहीं आ  रहे हैं। संदिग्ध मरीजों से बात करने के बाद पता चला कि उनमें जागरुकता का भारी कमी है। उनके मन में डर का महौल है। जबकि उनको पता होना चाहिए कि कोरोना वायरस से अधिकांश मरीज ठीक हो जाते हैं। ठीक होने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अस्पताल से स्वस्थ होकर लोग घर पहुंच रहे हैं। बीमारी जितनी जल्दी पकड़ में आएगी मरीज उतना ही जल्दी स्वस्थ होगा।

अपनी जिम्मेवारियां समझने की जरूरत    

लोग अपनी जिम्मेवारियां न समझकर घरों में ही छुपे हुए हैं। प्रशासन की बार-बार अपील के बावजूद अधिकांश लोग जांच कराने से पीछे भाग रहे हैं। जबकि जांच नहीं कराने से उनको खतरा तो है ही पूरे समाज में वायरस फैल जाने डर सता रहा है। इसकी गंभीरता को समझते हुए जिला प्रशासन ने अब सख्त कदम उठाया है। वैसे लोगों को अब घर-घर जाकर ढूंढा जा रहा है।

कोल्हान में अबतक 201 संदिग्ध लोगों की हुई जांच

कोल्हान प्रमंडल में अबतक कुल 220 संदिग्ध लोगों का नमूना जब्त कर जांच की गई  है। इनमें 201 की रिपोर्ट निगेटिव आयी है। यानी उनको कोरोना वायरस नहीं है। वहीं 19 लोगों की जांच रिपोर्ट अबतक नहीं आ सकी है। मंगलवार की देर शाम तक उनकी रिपोर्ट आने की उम्मीद है। कोल्हान में सबसे अधिक पूर्वी सिंहभूम जिले से कुल 167 लोगों का नमूना लिया गया है। जबकि पश्चिमी सिंहभूम से 39 व सरायकेला-खरसावां से 14 नमूना लिया गया है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस