जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। जेएनयू के जंग की चिंगारी अब जमशेदपुर में भी देखने को मिल रही है। यहां साकची गोलचक्कर के समीप बुधवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आक्रोश मार्च निकाला गया। ग्रेजुएट  कॉलेज साकची से यह मार्च साकची गोलचक्कर तक पहुंचा।

यहां पहुंचने के बाद अभाविप के कार्यकर्ताओं ने वामपंथी छात्र संगठनों का पुतला फूंका। जेएनयू में अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के जाने पर उनके खिलाफ नारेबाजी भी अभाविप के कार्यकर्ताओं ने की।  इस अवसर पर नगर मंत्री नीलकमल सिंह ने कहा कि पहले तो छात्रों को सेमेस्टर की परीक्षा देने से रोक रहे थे। उसमें विफल होने के बाद वामपंथी छात्र नेता छात्रों को पंजीयन करने से रोक रहे थे।

फिर वाइफाइ कनेक्शन को तोड़ दिया।  वामपंथी छात्र नेताओं ने अभाविप समर्थित छात्रों की पिटाई कर दी। इसके फलस्वरूप में 25 से अधिक अभाविप कार्यकर्ता जख्मी हो गए। इसका उल्टा प्रचार वामपंथी छात्र नेताओं ने किया। वामपंथी छात्रनेता जेएनयू को बदनाम करने का काम वर्षो से करते आ रहे हैं। इसका विरोध अभाविप के कार्यकर्ता करते रहेंगे। इसे किसी भी हालत में भारत विरोधी गतिविधियों का केंद्र नहीं बनने देंगे। इस आक्रोश मार्च में वीरेंद्र कुमार, सत्यनाथ प्रमाणिक, नमिता पाठक, विवेक कुमार, अनिप अनुरंजन, दीपक भट्ठ, बापन घोष, सागर ओझा सहित कई सदस्य उपस्थित थे। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस