जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में सोमवार को पहले लाइव काउंसलिंग सत्र की शुरुआत की गई। कॉमर्स, इंग्लिश और इकोनॉमिक्स की स्टूडेंट्स ने काउंसलिंग के लिए लॉग इन किया और अपनी समस्याएं रखीं।

कॉमर्स द्वितीय वर्ष की छात्रा अंकिता ने लॉकडाउन की वजह से करियर को लेकर पैदा हुए असमंजस की समस्या रखी तो अर्थशास्त्र के पहले सेमेस्टर की छात्रा रेशमा ने स्नातकोत्तर के बाद छात्राओं के भविष्य को लेकर चिंताएं जाहिर कीं।

कोविड-19 के कारण कॅरियर को लेकर जताई गई चिंता, धैर्य रखने की दी गई सलाह

इसी तरह विप्रो कैंपस के लिए आवेदन करने वाली एक अन्य छात्रा को इस बात की चिंता थी कि इस महामारी के कारण नौकरी की लोकेशन दूसरी जगह और विशेष रूप से मेट्रो शहर होने से उसे तनाव हो रहा है। काउंसिलिंग सत्र की शुरुआत में प्राचार्या प्रो डॉ शुक्ला महांती ने बच्चियों को धैर्य रखने को कहा और बताया कि चिंता करने से आज तक किसी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। इसलिए चिंता में ऊर्जा व्यर्थ करने से बेहतर है कि योजनाबद्ध तरीके से लक्ष्य की ओर बढ़ें।

हर छात्रा की सुनी गईं समस्‍याएं, सुझाए गए समाधान

उन्होंने छात्राओं से विस्तार से बात की और एक-एक छात्रा को आवश्यक परामर्श दिया। काउंसिलिंग सत्र के बाद छात्राएँ करियर में आगे बढ़ने को लेकर संतुष्ट और आश्वस्त महसूस कर रही थीं। उन्होंने प्राचार्या के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। काउंसिलिंग के दौरान शिक्षिका स्वाति अग्रवाल भी मौजूद रहीं। बताया गया कि सोमवार से शुक्रवार तक हर कार्य दिवस को लाइव काउंसिलिंग होती रहेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस