जमशेदपुर , जासं।  कोरोना काल के बावजूद टाटा मोटर्स का उत्पादन आए दिन बढ़ता जा रहा है, जो सुखद है। अगस्त महीने में जहां 2350 वाहन बनाए गए हैं ,वहीं इस माह सितंबर में तीन हजार का शिड्यूल मिला है। मांग बढ़ने के बाद यह आंकड़ा बढ़ भी जाएगा।

लॉकडाउन के बाद जहां एक दिन से 50 से 60 वाहन बनाए जाते थे, वह बढ़कर एक सौ पहुंच गया है। यह संख्या और भी बढ़ने की उम्मीद है। यहां प्रतिदिन 350 से लेकर 400 तक वाहन बनाए जाते थे, इस प्रकार यह उत्पादन पूर्व की अपेक्षा 40 फीसद तक ही पहुंच पाया है। इधर, सेना से भी वाहन बनाने का भी ऑडर मिला है। बीएस सिक्स मॉडल के वाहनों की मांग बाजार में काफी मांग है। ऐसे में आए दिन टाटा मोटर्स के वाहनों की मांग बढ़ती जा रही है तथा उत्पादन का रफ्तार धीरे-धीरे तेज होने लगा है।

अस्थायी कर्मियों को मिलने लगे काम

उत्पादन बढ़ने का सीधा असर यहां के अस्थायी कर्मियों पर पड़ता है। तीन हजार से ज्यादा बाई सिक्स कर्मचारी काम पर हैं, जबकि शेष को इस माह से काम मिलने की उम्मीद है। लॉकडाउन के बाद अस्थायी कर्मियों को काम नहीं मिल रहा था। कंपनी के स्थायी कर्मचारी ही उत्पादन कार्य में लगे हुए थे, लेकिन इधर कंपनी की उत्पादन बढ़ने के साथ-साथ अस्थायी कर्मियों की वापसी होने लगी है। रोटेशन के आधार पर अस्थायी कर्मियों को काम दिया जा रहा है। अगले महीने तक काम से बैठे सभी अस्थायी कर्मचारियों को काम पर बुला लिया जाएगा। कंपनी में अस्थायी कर्मियों की संख्या करीब 47 सौ है।

Posted By: Rakesh Ranjan

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस