जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। जिले के अंदर ऑटो रिक्शा, टेंपो, ई-रिक्शा, हाथ-रिक्शा के लिए दिशा-निर्देश जारी किया गया है। इसमें बीच सड़क पर सवारी बैठाने वाले टेंपो चालकों पर कार्रवाई की बात कही गई है। स्पष्ट है कि शेयर में टेंपो नहीं चलाना है, रिजर्व में ही टेंपो चलेंगे। 

रिक्शा में सैनिटाइजर भी रखना है, जिससे हर बार नए यात्री के बैठाने के पूर्व सीटों को सैनिटाइज करना आवश्यक होगा। चार व्यक्तियों की क्षमता वाले टेंपो में दो और सात व्यक्ति वाले टेंपो में चार लोग ही बैठ सकेंगे। वहीं ई-रिक्शा में दो और साइकिल रिक्शा में एक ही व्यक्ति बैठ सकेगा। यात्रा के दौरान यात्री या चालक धूमपान, पान, गुटखा, खैनी खाने पर प्रतिबंध रहेगा। थूकना  बिल्कुल वर्जित है। मास्क पहनना अनिवार्य है। टेंपो चालकों को यात्री का नाम, पता, कहां से कहां तक यात्रा की और मोबाइल नंबर दर्ज करना है और इसे प्रशासन द्वारा मांगे जाने पर उपलब्ध कराना होगा। 

आयुक्त से जूते व कपड़े की दुकान खोलने की मांगी अनुमति

सिंहभूम चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के सदस्यों  ने बुधवार को चाईबासा जाकर कोल्हान आयुक्त विरेंद्र भूषण से मुलाकात की। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने अनलॉक 1.0 में कपड़े-जूते सहित अन्य व्यापार को भी खोलने देने की अनुमति मांगी। चैंबर सदस्यों का तर्क है कि दूसरे राज्यों में इन व्यवसायों को खोलने की अनुमति मिल चुकी है। ऐसे में जो छोटे विक्रेता यहां के व्यापारियों से माल खरीदते थे, वे अब पड़ोसी राज्यों का रूख कर रहे हैं। रामनवमी, ईद व शादी-विवाह जैसे कार्यक्रमों के लिए खरीदा गया स्टॉक अब खराब हो रहा है।

कपड़ों की डिजाइन पुरानी हो रही है। ऐसे में व्यापार को ज्यादा दिनों तक बंद रखना राज्यहित और व्यापारहित में नहीं है। कोल्हान आयुक्त से मिलने वालों में कैट के राष्ट्रीय सचिव सुरेश सोंथालिया, चैंबर अध्यक्ष अशोक भालोटिया, विजय आनंद मूनका, सत्यनारायण अग्रवाल, महेश सोंथालिया, अनिल चौधरी, नवीन श्रीवास्तव सहित कई व्यवसायी भी उपस्थित थे। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस