जमशेदपुर,जासं। खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने उपायुक्त रविशंकर शुक्ला, वन प्रमंडल पदाधिकारी, मानगो नगर निगम के कार्यपालक अभियंता, एनएचएआइ के अभियंता तथा पेयजल स्वच्छता विभाग के अभियंताओं के साथ जमशेदपुर परिसदन में बैठक की। इसमें एनएच-33 के निर्माण में आने वाली बाधाओं को दूर करने को लेकर चर्चा की गई।

मंत्री सरयू राय ने बताया कि एनएच-33 की चौड़ाई सभी जगह 60 मीटर है, जबकि पारडीह चौक से डिमना चौक के बीच सड़क की चौड़ाई 45 मीटर प्रस्तावित है, ताकि सड़क किनारे की इमारतों को नुकसान न हो। यदि ऐसा नहीं होता तो सड़क के दोनों ओर साढ़े सात मीटर तक इमारतों को तोड़ना पड़ता। उन्होंने बताया कि चौड़ाई कम होने की वजह से मानगोवासियों के वाहन परिचालन में परेशानी हो सकती है। इसलिए पारडीह चौक से डिमना चौक के बीच पूरी सड़क पर एलिवेटेड रोड का निर्माण प्रस्तावित है।

पाइप नाला के नीचे, होगी समस्या

मंत्री ने कहा कि पेयजल आपूर्ति के लिए जो पाइप बिछाई गई है वह एनएचएआइ पर निर्मित होने वाले नाला के नीचे है। नाला के नीचे पेयजल का पाइप रहने के कारण भविष्य में पानी का कनेक्शन प्रदान करने में असुविधा होगी। ऐसा भी हो सकता है कि पाइप फट जाए। इस स्थिति में इसकी मरम्मत में भी कठिनाई आएगी। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग को पेयजल की पाइप बिछाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने का सुझाव मंत्री सरयू राय ने दिया। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि पेयजल की पाइप को दलमा की तलहटी में बिछाया जाए और जो कनेक्शन नीचे से ऊपर की ओर दिया गया है, वह ऊपर से नीचे की ओर किया जाए। इससे पेयजल आपूर्ति में भी सुगमता आएगी।

गार्डवाल का निर्माण कराने का निर्देश

पारडीह कुमरूम स्थित तालाब में फ्लाईऐश डाला गया है। इसपर सरयू राय ने वहां गार्डवाल का निर्माण कराने का निर्देश दिया। ठेकेदार से उन्होंने पूछा कि एग्रीमेंट में कहीं जिक्र है कि मिट्टी कहां से लाएंगे। एग्रीमेंट में यदि कहीं फ्लाईऐश लाने की बात शामिल है तो इसकी जानकारी मंत्री सरयू राय ने मांगी।

डिजाइन में सिर्फ डिमना चौक पर फ्लाईओवर

अधिकारियों ने बताया कि डिजाइन के अनुसार वर्तमान में सिर्फ डिमना चौक पर फ्लाईओवर दी गई है और पारडीह चौक पर नीचे से अंडर पास निकालने की व्यवस्था की गई है। अधिकारियों ने बताया कि पूरी सड़क पर फ्लाई ओवर बनने पर लगभग 250 करोड़ का खर्च आएगा और पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था में लगभग तीन करोड़ खर्च होंगे जो विभाग के स्तर से कर पाना संभव नहीं है।

भविष्य को देखते हुए बने नक्शा

मंत्री सरयू राय ने भविष्य में सड़क की उपयोगिता को देखते हुए सड़क का नक्शा तैयार करने की बात कही, ताकि लंबे समय तक सड़क की उपयोगिता बनी रहे। उन्होंने कहा कि वे 22 अक्टूबर को दिल्ली जाएंगे जहां केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी तथा एनएचएआइ के अध्यक्ष एनएन सिन्हा से बात करेंगे। ऐसा कतई नहीं होना चाहिए कि चुनाव के कारण आनन-फानन में सड़क बना दी जाए जिससे भविष्य में कठिनाई हो।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप