जमशेदपुर, जेएनएन। Positive India टाटा स्‍टील कोरोना वायरस से उत्‍पन्‍न संकट में न केवल देश- दुनिया बल्‍क‍ि अपने जमशेदपुर शहर के साथ भी मजबूती से खड़ा है। टाटा ट्रस्‍ट ने संकट से निपटने के लिए मोटी रकम भारत सरकार को  दी ही, कंपनी प्रबंधन ने जमशेदपुर के निवासियों को सकून पहुंचाने के लिए भी कई कदम उठाए हैं। इलाज, भोजन और भी बहुत कुछ। 

टाटा स्टील की ओर से रविवार को टाटा मेन हॉस्‍पीटल (टीएमएच) और सीएसआर द्वारा टेली कॉन्फ्रेंस की गई।  इसमें टीएमएच के डॉक्टर राजन चौधरी ने बताया कि अभी कोरोना पर काबू पाने के लिए 130 बेड का आइसोलेशन वार्ड अस्पताल में उपलब्ध है। जल्द ही 240 बेड और बढ़ाए जाएंगे। अगले बुधवार यानी एक अप्रैल तक हालात को  देखने के बाद जरूरत पड़ने पर 160 बेड और बनाए जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि अस्पताल का क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) को कोरोना के लिए समर्पित कर दिया गया है। राजन ने शहरवासियों को भरोसा दिलाया कि कोरोना को लेकर चिंतित न हों। हमारे पास पर्याप्त मात्रा में दवा और 530 बेड का आइसोलेशन वार्ड, विशेषज्ञ डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ हैं। हम विपरीत हालात को अनुकूल करने में सक्षम हैं।  

ताकि मिले कुछ काम

टाटा स्टील के सीएसआर चीफ सौरभ रॉय ने बताया कि लॉक डाउन के कारण काम बंद होने से बड़ी आबादी बेरोजगार हो गई है। कंपनी की ओर फिलहाल 31 बस्तियो में 2000 लोगों को एक टाइम का गर्म खाना पहुंचाया जा रहा है। हमारे पास 81 बस्तियों की सूची है। जल्द हो 50 हजार लोगों को कम से कम एक समय का गर्म खाना पहुंचाया जाएगा। साथ ही घर बैठे लोग कुछ कमाई कर सके, इसके लिए मास्क निर्माण, किचन गार्डन के साथ ही  पटमदा और  बोड़ाम से सब्जियों व मछली की होम डिलीवरी की तैयारी की जा रही है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस